1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. असम एनआरसी विवाद: हंगामे की वजह से राज्यसभा कल तक के लिए स्थगित, नहीं बोल पाए राजनाथ सिंह

असम एनआरसी विवाद: हंगामे की वजह से राज्यसभा कल तक के लिए स्थगित, नहीं बोल पाए राजनाथ सिंह

एनआरसी पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी आज राज्यसभा में 2 बजे जवाब देंगे। उधर, भाजपा ने असम के बाद दिल्ली और बंगाल में भी नागरिक रजिस्टर बनाने की मांग की है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: August 01, 2018 14:20 IST
असम एनआरसी विवाद: संसद में आज जवाब दे सकते हैं गृह मंत्री राजनाथ सिंह- India TV
असम एनआरसी विवाद: संसद में आज जवाब दे सकते हैं गृह मंत्री राजनाथ सिंह

नई दिल्ली: असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) मुद्दे पर आज गृह मंत्री राजनाथ सिंह जब जवाब देने उठे तब वो हंगामे की वजह से बोल नहीं पाए और राज्यसभा कल तक के लिए स्थगित कर दी गई। इससे पहले आज राज्‍यसभा में इस मुद्दे पर विपक्षियों ने हंगामा शुरू कर दिया जिसे देखते हुए सदन की कार्यवाही को 12 बजे तक के लिए स्‍थगित किया गया।

लोकसभा में जहां कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने लोकसभा में शून्यकाल के दौरान इस मुद्दे पर चर्चा का नोटिस दिया था। वहीं राज्यसभा में सभापति वेंकैया नायडू ने जब अमित शाह को अपने कल के बयान को खत्म करने के लिए कहा तो विपक्षी दलों ने हंगामा शुरू कर दिया।

LIVE अपडेट्स

-हंगामें के कारण राज्यसभा कल तक के लिए स्थगित

-गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बोलना शुरू किया लेकिन हंगामे की वजह से बोल नहीं पाए
-विपक्ष की माँग, पीएम दें जवाब
-सभापति ने गृह मंत्री को जवाब देने के लिए कहा
-अमित शाह के बयान पर टीएमसी और कांग्रेस सांसदों का विरोध प्रदर्शन, संसद के वेल में जमा हुए टीएमसी सांसद
-शूखेंदु रॉय ने प्वाइंट ऑफ़ ऑर्डर का मामला उठाया, कहा एक ही सदस्य दो बार कैसे बोल सकता है
-विपक्ष का विरोध, नारेबाज़ी चल रही है
-राज्य सभा में एनआरसी पर बहस शुरू
-सभापति ने अमित शाह का भाषण शुरू के लिए कहा

एनआरसी पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी आज राज्यसभा में 2 बजे जवाब देंगे। उधर, भाजपा ने असम के बाद दिल्ली और बंगाल में भी नागरिक रजिस्टर बनाने की मांग की है। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि अगर बंगाल में भाजपा सरकार बनाती है, तो एनआरसी को राज्य में लागू करेंगे। भाजपा के दिल्ली अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि इसे दिल्ली में भी लागू किया जाए।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment