1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. IAS अफसरों-अरविंद केजरीवाल के बीच हो सकती है सुलह

IAS अफसरों-अरविंद केजरीवाल के बीच हो सकती है सुलह

लंबे समय से चल रहे IAS अफसरों और दिल्ली सरकार के बीच चल रही तनातनी जल्द ही खत्म हो सकती है। दोनों ही पक्षों में बातचीत के संकेत मिल रहे हैं। बीते रविवार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने IAS अफसरों से अपील की कि वह फिर से काम पर लौट आएं।

India TV News Desk India TV News Desk
Published on: June 18, 2018 13:06 IST
arvind kejriwal- India TV
arvind kejriwal

नई दिल्ली: लंबे समय से चल रहे IAS अफसरों और दिल्ली सरकार के बीच चल रही तनातनी जल्द ही खत्म हो सकती है। दोनों ही पक्षों में बातचीत के संकेत मिल रहे हैं। बीते रविवार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने IAS अफसरों से अपील की कि वह फिर से काम पर लौट आएं। अरविंद केजरीवाल की अपील पर IAS अधिकारी इसपर विचार कर सकते हैं। सूत्रों के अनुसार, सभी अफसर अरविंद केजरीवाल की अपील पर आपस में बातचीत करेगा कोई फैसला ले सकते हैं। ऐसे भी कयास लगाए जा रहे हैं कि सोमवार को दोनों पक्षों में सुलह भी हो सकती है।

गौरतलब है कि, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को आईएएस अधिकारियों को उनकी सुरक्षा का आश्वासन दिया और उनसे काम पर लौटने तथा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने का आग्रह किया। केजरीवाल ने अपने ट्विटर खाते पर जारी एक पत्र में कहा है, "मैं उन्हें आश्वस्त करना चाहता हूं कि मैं अपनी पूरी शक्ति और उपलब्ध संसाधनों से उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करूंगा। मैं पहले भी कई अधिकारियों को इस तरह का आश्वासन दे चुका हूं, जिन्होंने मुझसे अकेले में मुलाकात की थी। मैं आज फिर इसे दोहराता हूं।"

आईएएस आफिसर्स एसोसिएशन ने रविवार को आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्हें इस सरकार में अपनी सुरक्षा को लेकर भय है और उन्होंने आरोप लगाया कि नौकरशाहों पर हमलों के मामलों के बावजूद मुख्यमंत्री की तरफ से कोई आश्वासन नहीं मिला है। अधिकारियों ने कहा, "हम सभी के हमले के कई अनुभव हैं। यदि हम सुरक्षित महसूस नहीं करेंगे तो हम बैठक में हिस्सा नहीं लेंगे। हमने नियम से आगे जाकर काम किया है, ताकि जनता को तकलीफ न हो, उनके काम न रुके, लेकिन हम अपनी जिंदगी की कीमत पर काम नहीं करेंगे।"

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment