1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. महाबलीपुरम में आज मिलेंगे शी जिनपिंग और पीएम नरेंद्र मोदी, ये है पूरा कार्यक्रम

महाबलीपुरम में आज मिलेंगे शी जिनपिंग और पीएम नरेंद्र मोदी, ये है पूरा कार्यक्रम

महाबलीपुरम में आज दुनिया की दो महाशक्तियां मिलेंगी। वैसे तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अब तक 14 बार मिल चुके हैं लेकिन उनमें से अनौपचारिक बातचीत सिर्फ एक ही बार हुई है और आज ये दूसरा मौका है जब दोनों की अनौपचारिक मुलाकात होगी।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: October 11, 2019 7:10 IST
महाबलीपुरम में आज मिलेंगे जिनपिंग और मोदी, ये है पूरा कार्यक्रम- India TV
महाबलीपुरम में आज मिलेंगे जिनपिंग और मोदी, ये है पूरा कार्यक्रम

नई दिल्ली: महाबलीपुरम में आज दुनिया की दो महाशक्तियां मिलेंगी। वैसे तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अब तक 14 बार मिल चुके हैं लेकिन उनमें से अनौपचारिक बातचीत सिर्फ एक ही बार हुई है और आज ये दूसरा मौका है जब दोनों की अनौपचारिक मुलाकात होगी और इस खास मुलाकात के लिए तमिलनाडु का महाबलीपुरम शहर पूरी तरह तैयार है। बंगाल की खाड़ी के किनारे बसा ये शहर अपनी खूबसूरती से सबको आकर्षित करता है। यहां की सांस्कृतिक धरोहर, यहां की परंपराएं और यहां का इतिहास ऐसा है जिसने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को भी आकर्षित कर लिया।

दुनिया की दो बड़े देश के दो बड़े नेता यहां के खूबसूरत नजारों के बीच उन मुद्दों पर बात करेंगे, जिनसे भारत और चीन के बीच संबंधों में नई मिठास मिले। 2018 में मुलाकात के लिए चीन का शहर वुहान तय किया गया था, 2019 में भारत का महाबलीपुरम तय किया गया है। प्रधानमंत्री मोदी खुद शी जिनपिंग को महाबलीपुरम में तीन खूबसूरत जगहों का दीदार कराएंगे।  

सबसे पहले अपने खास मेहमान के साथ प्रधानमंत्री मोदी अर्जुन पेनेंस जाएंगे। यहां एक विशाल शिलापट्टी पर कई आकृतियां बनी हुई हैं जिनके बारे में मान्यता है कि ये तस्वीरें गंगा को धरती पर लाने की दास्तां बताती हैं। साथ ही एक मान्यता ये भी है कि कौरवों के विरुद्ध लड़ाई जीतने के लिए अर्जुन ने यहीं पर भगवान शिव से अस्त्र-शस्त्र पाने के लिए एक पैर पर खड़े होकर घनघोर तपस्या की थी।

अर्जुन पेनेंस के बाद प्रधानमंत्री मोदी चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को पंचरथ पर ले जाएंगे। यहां पांच अधूरे रथ बने हैं जिनके बारे में मान्यता है कि ये पांचों पांडवों के हैं। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी अपने चीनी मेहमान को तट मंदिर में ले जाएंगे जो समुद्र के किनारे बना है।

आज पीएम मोदी और शी जिनपिंग के बीच हो रही ये मुलाकात इसलिए भी अहम है क्योंकि जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल-370 हटाए जाने के बाद पहली बार दोनों नेता एक दूसरे के साथ होंगे। खासकर तब जब पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान चीन जाकर जिनपिंग के आगे अपना दुखड़ा रो आए हैं।

चीन के राष्ट्रपति का प्रोग्राम (11 अक्टूबर)

1.30 PM - चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग चेन्नई एयरपोर्ट पर पहुंचेंगे, जहां पीएम मोदी उनका स्वागत करेंगे 
1.45 PM - राष्ट्रपति शी जिनपिंग एयरपोर्ट से होटल ITC ग्रैंड के लिए रवाना होंगे 
5.00 PM - शी जिनपिंग महाबलीपुरम पहुंचेंगे, जहां अर्जुन की तपस्या स्थली, पंचरथ, मल्लमपुरम के शोर टेंपल का दर्शन करेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शी जिनपिंग के साथ रहेंगे 
6.00 PM - शोर टेंपल में सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा 
06.45 से 08.00 बजे तक - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग डिनर करेंगे

12 अक्टूबर
सुबह 9.50 बजे
ताज फिशरमैन कव रिजॉर्ट आएंगे
सुबह 10 बजे मोदी-जिनपिंग की मुलाकात होगी
सुबह 10.50 बजे डेलीगेशन लेवल की बातचीत होगी
सुबह 11.45 बजे जिनपिंग को लंच देंगे मोदी
दोपहर 12.45 बजे चेन्नई एयरपोर्ट के लिए रवाना होंगे
दोपहर 1.30 बजे चेन्नई से नेपाल के लिए रवाना

वुहान में पीएम मोदी को शी जिनपिंग ने अपना शहर दिखाया था, उन्हें घुमाया था और चाय पिलाई थी, अब आज पीएम मोदी उन्हें महाबलीपुरम घुमाएंगे। सांतवी शताब्दी में जो शहर भारत और चीन के रिश्तों में मिठास घोलता था, जो शहर एक दूसरे को व्यापारिक, आर्थिक और सांस्कृतिक सूत्र में बांधकर रखता था, आज वो शहर एशिया के दो सबसे बड़े नेता के स्वागत में जुटा है।

India TV Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban