1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. उत्तराखंड के CM का दावा- सिर्फ गाय ही ऑक्सीजन लेती और छोड़ती है

उत्तराखंड के CM का दावा- सिर्फ गाय ही ऑक्सीजन लेती और छोड़ती है

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेद सिंह रावत ने दावा किया है कि सिर्फ गाय ही इकलौती ऐसा जानवर है, जो ऑक्सीजन लेती और छोड़ती है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 26, 2019 19:01 IST
Uttarakhand CM Trivendra Singh Rawat- India TV
Uttarakhand CM Trivendra Singh Rawat

देहरादून: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दावा किया है कि सिर्फ गाय ही इकलौती ऐसा जानवर है, जो ऑक्सीजन लेती और छोड़ती है। इससे कुछ दिन पहले ही भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राज्य प्रमुख अजय भट्ट ने गरुड़ गंगा नदी के पानी के चमत्कारी गुणों पर प्रकाश डाला था।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में रावत ने दावा किया, "गाय ही एक मात्र ऐसी जानवर है, जो ऑक्सीजन को लेती और छोड़ती है। इसलिए हमारे द्वारा इसे मां का दर्जा दिया गया है।" मुख्यमंत्री ने कहा, "गाय को सहलाने से श्वास संबंधी परेशानियां दूर होती हैं। यही नहीं गाय के निकट रहने से ट्यूबरकुलोसिस (टीबी की बीमारी) ठीक हो सकती है।"

रावत ने कहा कि 2007 से 2012 में पूर्ववर्ती भाजपा की सरकार में वह पशुपालन मंत्री रहे और इस दौरान उन्होंने 'गाय कितनी उपयोगी होती है' इस बारे में एक शोध किया। उन्होंने आगे कहा, "अब वैज्ञानिक इस पर अपनी मंजूरी की मुहर लगा रहे हैं।"

हाल ही में राज्य इकाई के भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट ने बागेश्वर जिले की नदी गरुड़ गंगा के पानी को चमत्कारी बताया था। उन्होंने कहा था, "गरुड़ गंगा का पानी चमत्कारी है। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पैदा होने वाली दिक्कतों को इस पानी के इस्तेमाल से ठीक किया जा सकता है।" उन्होंने कहा था, "कुमाऊं क्षेत्र में महिलाएं गर्भावस्था के दौरान ऐसा करती हैं। वैज्ञानिक इस दावे की सत्यता की जांच कर सकते हैं।"

भाजपा प्रवक्ता ने इस प्रकार के दावों पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है। वहीं राज्य कांग्रेस के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि आम लोगों को गुमराह करने के लिए भाजपा कोई भी चमत्कार कर सकती है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment