1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. दिल्ली: मंदिर तोड़ने के मामले में पुलिस ने दर्ज की FIR, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

दिल्ली: मंदिर तोड़ने के मामले में पुलिस ने दर्ज की FIR, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

हौज काजी बवाल मामले में दिल्ली पुलिस ने तीन FIR रजिस्टर की हैं, जिसमें 2 क्रॉस FIR और एक मंदिर तोड़ने की FIR है। पुलिस ने एक मुख्य आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: July 02, 2019 12:06 IST
Three FIR registered after temple vandalised in central delhi- India TV
Three FIR registered after temple vandalised in central delhi

नई दिल्ली: हौज काजी बवाल मामले में दिल्ली पुलिस ने तीन FIR रजिस्टर की हैं, जिसमें 2 क्रॉस FIR और एक मंदिर तोड़ने की FIR है। पहली शिकायत संजीव गुप्ता के खिलाफ हुई है। संजीव गुप्ता वह शख्स हैं जिनके घर के बाहर से बवाल शुरू हुआ था। दूसरी FIR आस मोहम्मद के खिलाफ हुई है, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है। दरअसल, सबसे पहले आस मोहम्मद और संजीव गुप्ता का झगड़ा हुआ था। आस मोहम्मद पर आरोप है कि उसने अपने साथियों के साथ मिलकर संजीव के घर में पथराव किया और उसके बाद ही इलाके में बवाल हुआ। जिसमें मुस्लिम पक्ष पर आरोप लगा है कि उनकी भीड़ ने दुर्गा मंदिर गली में मंदिर को क्षति पहुंचाई। वहीं, तीसरी FIR हिंदू पक्ष की तरफ से हुई, जिसमें मंदिर पर पथराव कर के मंदिर को तोड़ने की शिकायत है।

क्या है पूरा मामला?

पुरानी दिल्ली के चावड़ी बाजार क्षेत्र में एक स्कूटर खड़ा करने को लेकर हुए झगड़े ने साम्प्रदायिक रंग ले लिया है और क्षेत्र में स्थित एक मंदिर में तोड़फोड़ की गई। उसके बाद सोमवार को क्षेत्र में तनाव रहा। पुलिस ने बताया कि चावड़ी बाजार के लाल कुआं क्षेत्र में किसी अप्रिय घटना को टालने के लिए सुरक्षा बढ़ा दी गई है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार यह घटना रविवार देर रात उस समय हुई जब आस मोहम्मद (20) एक इमारत के बाहर अपना स्कूटर खड़ी कर रहा था। इमारत के एक निवासी संजीव गुप्ता ने इस पर आपत्ति जतायी जो कि वहां खाने-पीने की एक दुकान चलाता है।

गुप्ता की पत्नी बबीता ने बताया कि जब उसके पति ने स्टॉल के पास स्कूटर खड़ा करने पर आपत्ति की तो तब तो मोहम्मद वहां से चला गया लेकिन वह बाद में वहां और व्यक्तियों के साथ आया जिन्होंने ‘‘संभवत: शराब पी हुई थी’’ और उन्होंने गुप्ता की पिटायी कर दी। वहीं, 27 वर्षीय साफ्टवेयर इंजीनियर साकिब ने अलग बात बतायी। उसने कहा, ‘‘जब मोहम्मद की पिटाई कर दी गई, वह और उसके परिवार के अन्य सदस्य पुलिस थाने गए और मामला दर्ज कराया।’’

घटना से संबंधित एक वीडियो में पार्किंग मुद्दे को लेकर कुछ व्यक्ति एक व्यक्ति की कथित रूप से पिटायी करते दिखते हैं जिनके शराब के नशे में होने का संदेह है। क्षेत्र में रहने वाले आकीब हसन (25) ने कहा, ‘‘जब मोहम्मद ने अपना स्कूटर खड़ा किया, तो गुप्ता ने उससे कहा कि वह अपना स्कूटर कहीं और ले जाए, नहीं तो वह उसे आग लगा देगा। उसके बाद झगड़ा हो गया जिसमें गुप्ता और कुछ अन्य व्यक्तियों ने मोहम्मद को इमारत में खींचा और उसकी पिटायी कर दी।’’ इस बीच, स्थानीय लोगों ने पुलिस नियंत्रण कक्ष को फोन कर दिया और मोहम्मद और गुप्ता दोनों को पुलिस थाने ले जाया गया। साकिब ने दावा किया, ‘‘जब मोहम्मद और गुप्ता पुलिस थाने में थे, कुछ अज्ञात व्यक्ति मंदिर के बाहर एकत्रित हो गए और उसमें तोड़फोड़ की। इससे क्षेत्र में तनाव उत्पन्न हो गया।’’

मंदिर दुर्गा मंदिर गली में स्थित है। यह मंदिर घटनास्थल के पास में ही स्थित है। मंदिर के पुजारी अनिल कुमार पांडेय ने कहा, ‘‘भीड़ कल रात करीब 12 बजे मंदिर आयी। उसने मंदिर में तोड़फोड़ की और वहां से चली गई।’’ सोमवार को तोड़फोड़ के निशान दिखे। इसमें मंदिर का शटर क्षतिग्रस्त दिखा, मूर्तियां भी थोड़ी क्षतिग्रस्त थीं। सोमवार को दिन के समय दोनों पक्षों ने नारेबाजी की तथा इससे तनाव और बढ़ गया। पुलिस ने कानून एवं व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षा बढ़ा दी है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment