1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. 25 साल से भारत में गायों की सेवा कर रही हैं ये पद्मश्री विजेता जर्मन महिला, जानिए क्यों हैं सुर्खियों में

विदेश मंत्रालय ने किया पद्म अवॉर्डी जर्मन नागरिक को वीजा देने से इनकार, सुषमा स्वराज ने मांगी रिपोर्ट

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जर्मनी के पद्म श्री पुरस्कार विजेता को वीजा देने से इंकार करने के मामले में रिपोर्ट मांगी है। जर्मन नागरिक ने इस मुद्दे पर पुरस्कार लौटाने की चेतावनी दी है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: May 26, 2019 17:21 IST
German Woman- India TV
German Woman

नई दिल्ली: विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जर्मनी के पद्म श्री पुरस्कार विजेता को वीजा देने से इंकार करने के मामले में रिपोर्ट मांगी है। जर्मन नागरिक ने इस मुद्दे पर पुरस्कार लौटाने की चेतावनी दी है। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक, जर्मन नागरिक फ्रेडिरक इरिना ब्रूनिंग (61) को गोरक्षा के लिए इस वर्ष पद्म श्री से नवाजा गया था। भारत में और अधिक समय तक रूकने के लिए उनके वीजा विस्तार के आवेदन को विदेश मंत्रालय द्वारा लौटाए जाने के बाद उन्होंने पुरस्कार लौटाने की धमकी दी थी।

मीडिया रिपोर्ट पर सुषमा ने ट्वीट किया, ‘‘मेरे संज्ञान में इसे लाए जाने के लिए धन्यवाद। मैंने रिपोर्ट मांगी है।’’ स्वराज ने एक अन्य ट्वीट में एक अन्य महिला को मदद का आश्वासन दिया जिन्होंने स्पेन के बार्सिलोना में अपने पति और बेटे का पासपोर्ट लूट लिए जाने के बाद मदद की गुहार लगाई थी।

बता दें कि फ्रेडरिक इरिना ब्रूनिंग 25 साल पहले जर्मनी से ब्रज दर्शन के लिए भारत आई थीं। इरिना ने बताया कि ब्रज भ्रमण के दौरान उन्होंने सड़क किनारे एक बछड़े को तड़पते देखा। यह देख उन्हें काफी तकलीफ हुई। इस दृश्य ने उनके जीने का मकसद बदल दिया। उन्होंने बेसहारा व बीमार गोवंश की सेवा करने का संकल्प किया। उन्होंने कौन्हई गांव में गोशाला शुरू की। इसमें 1400 से अधिक गोवंश हैं। इनमें से करीब 800 गाय घायल एवं बीमार हैं। जिनका गोशाला में उपचार किया जा रहा है। बीमार और घायल गोवंश को लाने के लिए गोशाला की दो एंबुलेंस भी हैं। कृष्ण भक्त, जर्मन महिला फ्रेडरिक इरीना ब्रूनिंग को सरकार ने पद्म श्री से भी सम्मानित किया है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment