1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. ये हैं देश की पहली महिला मर्चेंट नेवी....

ये हैं देश की पहली महिला मर्चेंट नेवी....

अक्सर जोखिम भरे कामों से महिलाओं को दूर रखा जाता है। उन्हें ऐसे काम दिए जाते हैं जो करने में आसान हो। लेकिन सुनेहा गडपांडे पहली ऐसी महिला हैं जिन्हे मर्चेंट नेवी में

India TV News Desk [Updated:21 Mar 2016, 4:14 PM IST]
सुनेहा गडपांडे- India TV
सुनेहा गडपांडे

नई दिल्ली: अक्सर जोखिम भरे कामों से महिलाओं को दूर रखा जाता है। उन्हें ऐसे काम दिए जाते हैं जो करने में आसान हो। लेकिन सुनेहा गडपांडे पहली ऐसी महिला हैं जिन्हे मर्चेंट नेवी में पहली पोस्टिंग तेलवाहक जहाज पर मिली। कई बार इन्हें इस स्थान पर पहुंचने के लिए रोका गया लेकिन उन्होंने कभी भी हार नहीं मानी और लगातार मेहनत करती रही। सुनेहा गडपांडे राष्ट्रपति की ओर से 100 वुमन अचीवर्स में भी शामिल हो चुकी हैं।

सुनेहा का बचपन

सुनेहा गडपांडे भोपाल की रहने वाली हैं बचपन से ही पिता और भाई को काम करते हुए देखती थी तो उन्हीं के जैसे लड़कों वाले काम करना चाहती थी। बचपन में उनके ज्यादा लड़के ही दोस्त थे। इंजीनियरिंग की पढ़ाई करते समय उन्होंने मर्चेंट नेवी के लिए आवेदन किया और उनका चयन हो गया। मर्चेंट नेवी में ट्रेनिंग के लिए जब सुनेहा का चयन हुआ तो उन्हें  शिपिंग कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया ने 800 ट्रेनीज के बीच सुनेहा को बैच कमांडर चुना। ट्रेनिंग के दौरान लड़कियों और लड़कों में कोई अंतर नहीं किया जाता था।

ज़िद के आगे झुके अधिकारी
जब सभी की पोस्टिंग होने लगी तो अफसरों का आदेश था कि महिला अफसरों को पैसेंजरशिप पर पोस्टिंग दी जाए, क्योंकि उनका मानना था कि सी-शिप में खतरे और चुनौतियां होती हैं, जिन्हें महिलाएं नहीं झेल सकती। लेकिन सुनेहा पैसेंजरशिप में काम करने को बिल्कुल तैयार नहीं हुई। उनकी इस जिद के कारण पूरे बैच की पोस्टिंग रोक दी गई। आखिरकार उनकी ज़िद के आगे अधिकारियों को  झुकना पड़ा और सुनेहा को पहली पोस्टिंग तेलवाहक जहाज़ पर दी गई।

अगली स्लाइड में चीफ अफसर ने की उनकी पोस्टिंग की खिलाफत

इंडिया टीवी 'फ्री टू एयर' न्यूज चैनल है, चैनल देखने के लिए आपको पैसे नहीं देने होंगे, यदि आप इसे मुफ्त में नहीं देख पा रहे हैं तो अपने सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करें।
Write a comment
pulwama-attack
australia-tour-of-india-2019