1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. जम्मू एवं कश्मीर: बकरीद पर पाबंदियों में ढील, चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी तैनात

जम्मू एवं कश्मीर: बकरीद पर पाबंदियों में ढील, चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी तैनात

इस खास मौके पर राज्य में लगीं पाबंदियों पर ढील दी गई है, ताकि लोग पूरे उत्साह के साथ त्योहार मना सकें।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: August 12, 2019 12:00 IST
Situation in Kashmir peaceful on Eid, security alert...- India TV
Image Source : INDIA TV Situation in Kashmir peaceful on Eid, security alert issued

जम्मू/श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के खात्मे के बाद सियासी बवाल और हंगामे के बीच घाटी ईद-अल-अजहा का जश्न मनाने के लिए पूरी तरह तैयार है। कश्मीर में ईद-अल-अजहा या बकरीद सोमवार को मनाई जाएगी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस खास मौके पर राज्य में लगीं पाबंदियों पर ढील दी गई है, ताकि लोग पूरे उत्साह के साथ त्योहार मना सकें। आपको बता दें कि ईद-उल-अजहा से पहले रविवार को बैंक, एटीएम और कुछ बाजार खुले रहे और तमाम प्रतिबंधों में ढील दी गई ताकि लोगों को त्योहार की खरीदारी करने में आसानी हो।

सरकार ने किए हैं पुख्ता इंतजाम

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बकरीद को ध्यान में रखते हुए श्रीनगर शहर में 6 मंडी/बाजार बनाए गए हैं और लोगों के लिए 2.5 लाख भेड़ें उपलब्ध कराई गईं हैं। लोगों के घरों तक सब्जियां, गैस सिलिंडर, मुर्गे-मुर्गियां और अंडे आदि पहुंचाने के लिए वाहनों का इंतजाम किया गया है। अनुच्छेद 370 पर 5 अगस्त को हुए फैसले के बाद से घाटी में संचार संपर्क सीमित होने की पृष्ठभूमि में जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल प्रशासन ने 300 विशेष टेलीफोन बूथ लगाने को कहा है ताकि लोग अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों से बातचीत कर सकें।

Situation in Kashmir peaceful on Eid, security alert issued

रविवार को सूबे के बाजारों में अच्छी-खासी चहल-पहल देखने को मिली। AP

बड़ी मस्जिदों में भीड़ की अनुमति नहीं
प्रशासन ने सोमवार को अलग-अलग इलाकों की स्थानीय मस्जिदों में ईद की नमाज के लिए अनुमति दी है। हालांकि घाटी की बड़ी मस्जिदों में ज्यादा संख्या में लोगों को नमाज अदा करने की इजाजत नहीं है। प्रशासन को शक है कि आसमाजिक तत्व भीड़ का फायदा उठाने की कोशिश कर सकते हैं। आपको बता दें कि आर्टिकल 370 के ज्यादातर प्रावधानों को संसद द्वारा निरस्त किए जाने के बाद बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती, प्रतिबंधों और संचार संपर्क सीमित किए जाने के कारण कश्मीर घाटी में त्योहार की चहल-पहल नजर नहीं आ रही है।

Situation in Kashmir peaceful on Eid, security alert issued

ईद से पहले खरीदारी के लिए निकली लड़कियां | AP

सूबे में घुसे जैश के 7 आतंकी
इस बीच खुफिया सूत्रों के हवाले से ऐसी आशंका जताई गई है कि राज्य में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के 7 आतंकी घुस गए हैं। रिपोर्ट्स के मुतबिक, इस आत्मघाती दस्ते ने जम्मू-कश्मीर में बनिहाल के दक्षिण और पीर पंजाल पर्वत श्रृंखला के जरिए क्षेत्र में घुसपैठ की है। बताया जा रहा है कि ये आतंकी ईद या स्वतंत्रता दिवस से पहले बड़े हमले को अंजाम देने की फिराक में हैं। सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने जैश से कहा है कि वह भारत में ऐसे हमलों को अंजाम दे, जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग मारे जाएं।

Situation in Kashmir peaceful on Eid, security alert issued

घाटी में सुरक्षाकर्मी चप्पे-चप्पे पर तैनात हैं। AP

जम्मू में हालात तेजी से हो रहे बेहतर
अधिकारियों ने बताया है कि जम्मू क्षेत्र में हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं। वहां 5 जिलों से निषेधाज्ञा पूरी तरह हटा ली गई है और अन्य 5 जिलों में ईद को देखते हुए प्रतिबंधों/निषेधाज्ञा में छूट दी गई है। वहीं, श्रीनगर के उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने बताया कि घाटी में भी हालात शांतिपूर्ण हैं। पाबंदियों में ढील दी गई है और सरकारी और निजी वाहन सड़कों पर दिख रहे हैं। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि लोगों की सुविधा के लिए प्रत्येक महत्वपूर्ण स्थान पर मैजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
arun-jaitley