1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. बिहार की 59 जेलों में एकसाथ छापेमारी, तेजस्वी ने कहा- मुद्दों से ध्यान भटकाने की साजिश

बिहार की 59 जेलों में एकसाथ छापेमारी, तेजस्वी ने कहा- मुद्दों से ध्यान भटकाने की साजिश

बिहार में सुरक्षा-व्यवस्था के मद्देनजर प्रशासन ने सभी जेलों में एक साथ छापेमारी कर बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया है।

Edited by: India TV News Desk [Updated:11 Aug 2018, 1:16 PM IST]
बिहार, छापेमारी, तेजस्वी यादव- India TV
बिहार की 59 जेलों में एकसाथ छापेमारी, तेजस्वी ने कहा- मुद्दों से ध्यान भटकाने की साजिश

नई दिल्ली: बिहार में सुरक्षा-व्यवस्था के मद्देनजर प्रशासन ने सभी जेलों में एक साथ छापेमारी कर बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया है। गृह मंत्रालय के निर्देश के बाद इस एक्शन को अंजाम दिया गया है। यह छापेमारी सभी मंडल और जिला जेलों में की गई है। सूत्रों के अनुसार स्वतंत्रता दिवस के साथ-साथ एहतियातन सुरक्षा की तैयारियों के निरीक्षण को लेकर इस कार्यवाही को अंजाम दिया गया है। पटना के बेउर जेल सहित कई दूसरे जिलों से भी जेल में सघन छापेमारी की खबरें आ रही है।

Related Stories

जलों में छापेमारी की कार्रवाही पर तेजस्वी यादव ने कहा कि मुद्दों से ध्यान भटाकानें के लिए इस रेड को अंजाम दिया जा रहा है। बिहार में कुल 59 जेल है जिनमें एकसाथ यह छापमारी की गई है। बिहार की जेलों में मोबाइल फोन मिलने की खबरें आती रहती है। जेलों के हालात को जानने के मकसद से भी इस रेड को अंजाम दिया गया है। 

बिहार में डीएसपी, एस समेत कई अधिकारियों की जेलों में छापेमारी

कटिहार: मंडलकारा में छापेमारी की गई। जिला पदाधिकारी पूनम देवी के नेतृत्व में एसपी, बिकाश कुमार,अनुमंडल पदाधिकारी नीरज कुमार मौके पर मौजूद रहें।

मुजफ्फरपुर: खुदी राम बोस केंद्रीय कारा में जिलाधिकारी के नेतृत्व में छापेमारी। सिटीएसपी, एसडीओ और कई थाने की पुलिस ने छापेमारी को अंजाम दिया।

जहानाबाद: डीएम, एसपी के नेतृत्व में मंडल कारा में छापेमारी, सभी वार्डो में भी सघन तलाशी ली गई है।

सीबीआई ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह की तलाशी ली

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की टीम ने सेंट्रल फॉरेसिंक साइंस लेबोरेटरी (सीएफएसएल) के अधिकारियों के साथ मिलकर बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के बालिका गृह की तलाशी ली, जहां 34 नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्कर्म का मामला उजागर हुआ था। मामले की जांच में तेजी लाने के लिए सीएफएसएल की टीम ने वैज्ञानिक सबूत एकत्र किए। 

एक जिला पुलिस अधिकारी ने कहा कि मुजफ्फरपुर कोर्ट में मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर से पूछताछ करने के लिए उसे रिमांड पर लिए जाने का आवेदन करने से पहले टीम ने सीलबंद कमरे खोले और तलाशी ली। अधिकारी ने कहा, "टीमों ने सील किए गए कमरे खोले और मामले में और सबूत इकट्ठा करने के लिए तलाशी ली।

टीमों द्वारा की गई सभी जांच गतिविधियों को रिकॉर्ड करने के लिए वीडियोग्राफी की गई।"ठाकुर को नौ अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार करने के बाद बालिका गृह को जिला प्रशासन द्वारा सील कर दिया गया था।

बालिका गृह के अंदर और बाहर अतिरिक्त सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है क्योंकि टीमों द्वारा जांच का काम कई घंटों तक किए जाने की संभावना है।ठाकुर ने मुजफ्फरपुर केंद्रीय कारागार में केवल पांच दिन बिताए हैं। इस मामले में उसे दो जून को गिरफ्तार किया गया था।

पुलिस ने कहा, "वह स्वास्थ्य आधार पर जेल के मेडिकल वार्ड में रह रहा है और कैदियों के वार्ड में रहने से बचने में कामयाब रहा।"पटना उच्च न्यायालय इस मामले में चल रही सीबीआई जांच पर नजर बनाए हुए है। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: Simultaneous raids at jails across Bihar; action just to divert attention from real issues, says Tejashwi- बिहार की 59 जेलों में एकसाथ छापेमारी, तेजस्वी ने कहा- मुद्दों से ध्यान भटकाने की साजिश
Write a comment