1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. अलगाववादी नेता यासीन मलिक को दिल्ली के तिहाड़ जेल लाया गया, NIA ने किया गिरफ्तार

अलगाववादी नेता यासीन मलिक को दिल्ली के तिहाड़ जेल लाया गया, NIA ने किया गिरफ्तार

जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (JKLF) के प्रमुख यासीन मलिक को मंगलवार को दिल्ली की तिहाड़ जेल लाया गया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: April 10, 2019 12:26 IST
Separatist leader Yasin Malik | PTI- India TV
Separatist leader Yasin Malik | PTI

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (JKLF) के प्रमुख यासीन मलिक को मंगलवार को दिल्ली की तिहाड़ जेल लाया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों और अलगाववादी समूहों को धन मुहैया कराने के मामले में बुधवार को JKLF प्रमुख यासीन मलिक को गिरफ्तार कर लिया।मलिक को पिछले महीने गिरफ्तार कर जम्मू की कोट बलवाल जेल भेज दिया गया था। NIA मलिक से उनके संगठन की फंडिंग को लेकर उनसे सवाल-जवाब करेगी।

अधिकारियों ने बताया कि NIA की विशेष अदालत के जांच एजेंसी को उसे हिरासत में लेकर पूछताछ करने का आदेश देने के बाद मलिक को मंगलवार शाम राष्ट्रीय राजधानी लाया गया था। जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (JKLF) प्रमुख को पुलिस संरक्षा में तिहाड़ जेल ले जाया गया। आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर पुलिस ने फरवरी में भी उन्हें एहतियाती तौर पर हिरासत में लेकर जम्मू जेल में स्थानांतरित कर दिया गया था। 

इससे पहले जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट ने तीन दशक पुराने मामलों को फिर से खोलने की CBI की याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। इन मामलों में मलिक एक आरोपी हैं। JKLF प्रमुख पर तत्कालीन केंद्रीय गृह मंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की बेटी रुबैया सईद का 1989 में अपहरण करने और 1990 के शुरुआती वक्त में भारतीय वायुसेना के 4 कर्मियों की हत्या में कथित तौर पर शामिल होने का आरोप है। NIA ने जम्मू की विशेष अदालत का रुख कर आतंकवाद के वित्तपोषण मामले में मलिक को हिरासत में लेकर जांच करने की मांग की थी। JKLF को हाल में गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) कानून के तहत प्रतिबंधित किया गया था।

आपको बता दें कि NIA ने मंगलवार को ही अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक से भी लगातार दूसरे दिन जम्मू कश्मीर में अलगाववादी संगठनों और आतंकवादी समूहों के फंडिंग से जुड़े मामले में पूछताछ की। अधिकारियों ने यहां बताया कि मीरवाइज पुलिस सुरक्षा में NIA मुख्यालय पहुंचे। उनसे अपनी ही पार्टी अवामी ऐक्शन कमेटी और हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के वित्त पोषण के मामले पर पूछताछ की गई। उन्होंने बताया कि मीरवाइज से तकरीबन 10 घंटे तक पूछताछ की गई और उन्हें बुधवार को एजेंसी के समक्ष उपस्थित होने के लिये कहा गया है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment