1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. भारत के हथियार बाजार में घटी रूस की चमक, 2014 से 18 के बीच अमेरिका और फ्रांस से बढ़ा आयात

भारत के हथियार बाजार में घटी रूस की चमक, 2014 से 18 के बीच अमेरिका और फ्रांस से बढ़ा आयात

हथियार खरीद के मामले में भारत का पुराना साथी रहे रूस की हिस्सेदारी पिछले पांच साल में तेजी से घटी है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: March 11, 2019 14:05 IST
India Russia  - India TV
India Russia  

हथियार खरीद के मामले में भारत का पुराना साथी रहे रूस की हिस्‍सेदारी पिछले पांच साल में तेजी से घटी है। हथियार बाजार पर एक ताजा रिपोर्ट के अनुसार भारत के हथियारों के आयात में पिछले चार साल में रूस की हिस्सेदारी घटी है। एक रिपोर्ट के अनुसार 2009-13 के बीच देश के कुल हथियार आयात में रूस से आयातित हथियारों की हिस्सेदारी 76 फीसदी थी जो 2014-18 में घटकर 58 फीसदी रह गई। वहीं वित्त वर्ष 2014-18 के बीच अमेरिका और फ्रांस से भारत को हथियारों का निर्यात बढ़ा है। 

स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीपरी) की ‘अंतरराष्ट्रीय हथियार लेन-देन का रुख-2018’ रपट में यह जानकारी दी गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पूरी कोशिश हथियारों के मामले में देश की आयात पर निर्भरता को खत्म करना है। रपट के अनुसार 2009-13 के मुकाबले 2014-18 में देश में हथियारों का आयात 24 प्रतिशत तक घटा है। 

आयात के आंकड़ों में कमी की एक अहम वजह विदेशी हथियारों की आपूर्ति में देरी होना भी है। जैसे कि रूस को लड़ाकू विमान का ऑर्डर 2001 में और फ्रांस को पनडुब्बी का ऑर्डर 2008 में दिया गया था। हालांकि इन सबके बावजूद भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा हथियार आयातक है। वैश्विक हथियार आयात में भारत का हिस्सा साढ़े नौ प्रतिशत के करीब है। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment