1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. पीएम मोदी की 'हत्या की साजिश': गृह मंत्री ने कहा, 'नक्सली हारी हुई लड़ाई लड़ रहे हैं'

पीएम मोदी की 'हत्या की साजिश': गृह मंत्री ने कहा, 'नक्सली हारी हुई लड़ाई लड़ रहे हैं'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हत्या की साजिश की रिपोर्ट सामने आने के बाद केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि नक्सली हारी हुई लड़ाई लड़ रहे हैं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: June 08, 2018 23:11 IST
PM modi- India TV
PM modi

जम्मू: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हत्या की साजिश की रिपोर्ट सामने आने के बाद केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि नक्सली हारी हुई लड़ाई लड़ रहे हैं। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि सरकार प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर गंभीर है। राजनाथ सिंह ने जम्मू कश्मीर के दो दिवसीय दौरे के बाद यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा,‘‘हम प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर हमेशा गंभीर रहे हैं। माओवादी हारने वाली लड़ाई लड़ रहे हैं। वे अब देश में केवल 10 जिलों में ही सक्रिय हैं।’’ 

पुणे में कल पुलिस ने एक अदालत में बताया था कि प्रतिबंधित भाकपा (माओवादी) के साथ कथित ‘‘संबंधों’’ के लिए गिरफ्तार किये गये पांच लोगों में एक व्यक्ति के दिल्ली स्थित आवास से एक 'चिट्ठी’ बरामद की गई थी। पुलिस ने अदालत को बताया कि इस चिट्ठी में कथित तौर पर कहा गया है कि माओवादी ‘‘राजीव गांधी हत्याकांड जैसी घटना की तरह ही मोदी की हत्या की साजिश रच रहे हैं।''

 
राजनाथ सिंह ने कहा कि नक्सली हिंसा जल्द ही खत्म हो जायेगी क्योंकि देश में उनके प्रभाव वाले क्षेत्रों की संख्या 135 जिलों से घटकर 90 हो गई है लेकिन वे इनमें से केवल 10 में ही अधिक सक्रिय है। जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ अभियानों में लगी रोक की समयावधि बढ़ाये जाने की संभावना के बारे में उन्होंने कहा कि जमीनी स्थिति की समीक्षा और सभी संबंधित लोगों से विचार-विमर्श करने के बाद ही उचित निर्णय लिया जायेगा। 
राजनाथ सिंह ने कहा कि शुरू से ही केन्द्र का रूख यही रहा है कि सरकार हर व्यक्ति से बातचीत की इच्छुक है। उन्होंने कहा,‘‘ हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान को अपनी सरजमीं से संचालित आतंकवादी गतिविधियों को रोकना चाहिए। ’’ 

माओवादी रच रहे थे राजीव गांधी की तरह पीएम मोदी की हत्या का षड्यंत्र?

माओवादियों के साथ कथित ‘‘संबंधों’’ के लिए गिरफ्तार किए गए एक व्यक्ति के घर से मिली एक चिट्ठी में कहा गया है कि माओवादी ‘‘राजीव गांधी हत्याकांड जैसी घटना’’ (को अंजाम देने) पर विचार कर रहे हैं और इसमें सुझाया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके ‘‘रोड शो’’ के दौरान निशाना बनाया जाए। पुलिस ने यह जानकारी दी। 

पुलिस के अनुसार यह पत्र ‘ आर ’ नाम के किसी व्यक्ति ने किसी कॉमरेड प्रकाश को पत्र भेजा है। इसमें एम -4 रायफल खरीदने के लिए आठ करोड़ रुपये की और साथ ही घटना को अंजाम देने के लिए चार लाख राउंड गोला बारूद की जरूरत की बात की गयी है। पुलिस ने बताया कि पत्र रोना विल्सन के घर से बरामद किया गया जिन्हें हाल में मुंबई , नागपुर एवं दिल्ली से पांच दूसरे लोगों सहित गिरफ्तार किया गया था। इन लोगों को दिसंबर में यहां आयोजित किए गए ‘ एलगार परिषद ’ और उसके बाद जिले के भीमा - कोरेगांव में हुई हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया। पांचों को कल सत्र अदालत में पेश किया गया था जिसने उन्हें 14 जून तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया। 

पाकिस्तान: हाफिज के संगठन जमात-उद-दावा ने कहा- नरेंद्र मोदी की हत्या होगी, भारत के टुकड़े होंगे

इस चिट्ठी में यह लिखा है, ‘‘हिंदू फासीवाद को हराना हमारा मूल एजेंडा रहा है और यह पार्टी की एक प्रमुख चिंता है। गोपनीय सेल के कई नेताओं और साथ ही अन्य संगठनों ने यह मुद्दा काफी मजबूती से उठाया है।’’ इसमें कहा गया, ‘‘मोदी की अगुवाई में हिंदू फासीवादी शासन आदिवासियों को रौंदते हुए तेजी से उनके जीवन में घुसता जा रहा है। बिहार और पश्चिम बंगाल में मिली बड़ी हार के बावजूद मोदी 15 राज्यों में भाजपा सरकार की स्थापना करने में सफल रहे हैं।’’

चिट्ठी में कहा गया, ‘‘अगर यह रफ्तार जारी रही तो इसका मतलब होगा कि पार्टी के लिए सभी मोर्चे पर काफी परेशानी आने वाली है।’’ इसमें कहा गया, ‘‘कॉमरेड किशन और कुछ दूसरे वरिष्ठ कॉमरेड ने मोदी राज को खत्म करने के लिए कुछ मजबूत कदम सुझाए हैं। हम सभी राजीव गांधी हत्याकांड जैसी घटना पर विचार कर रहे हैं।’’ पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 21 मई , 1991 को तमिलनाडु के श्रीपेरूम्बुदूर में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में महिला आत्मघाती हमलावर ने हत्या कर दी थी। 

चिट्ठी में कहा गया, ‘‘यह आत्मघाती जैसा मालूम होता है और इसकी भी काफी संभावना है कि हम असफल हो जाएं , लेकिन हमें लगता है कि पार्टी का पोलित ब्यूरो / केंद्रीय समिति हमारे प्रस्ताव पर विचार करे। उन्हें रोड शो में टारगेट करना एक असरदार रणनीति हो सकती है। हम सब को लगता है कि पार्टी का अस्तित्व किसी भी त्याग से ऊपर है।’’ सरकारी अभियोजक उज्जवल पवार ने कल अदालत में बहस के दौरान पत्र का हवाला दिया था और इन लोगों को पुलिस हिरासत में भेजने की मांग की। 

 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment