1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. सेना के पराक्रम को नीचा दिखाने वाले लोगों को शर्म आनी चाहियें :मोदी

सेना के पराक्रम को नीचा दिखाने वाले लोगों को शर्म आनी चाहियें :मोदी

मोदी ने कहा कि "राजनीतिक स्वार्थ के लिये ये लोग जिस प्रकार की बयानबाजी कर रहे है, इससे देश के दुश्मनों को ताकत मिल रही है

Bhasha Bhasha
Published on: March 08, 2019 17:42 IST
People who questions army should be ashamed says PM modi- India TV
People who questions army should be ashamed says PM modi

कानपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि हमारे घर में ही सेना के पराक्रम को नीचा दिखाने के दिन रात प्रयास किये जा रहे है और ऐसे लोगों को शर्म आनी चाहिये लेकिन उनकों शर्म नहीं आती है। मोदी कानपुर के निरालानगर मैदान में अनेक विकास योजनाओं का शिलान्यास करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कल जम्मू में हुये बम विस्फोट को आतंकवादियों की बौखलाहट का परिणाम बताया। 

उन्होंने कहा कि "क्या यह सेना का अपमान नहीं है,वीरों के पराक्रम का अपमान नहीं है। कुछ लोग यह काम जानबूझकर कर रहे है।" मोदी ने कहा कि "राजनीतिक स्वार्थ के लिये ये लोग जिस प्रकार की बयानबाजी कर रहे है, इससे देश के दुश्मनों को ताकत मिल रही है। स्वार्थ की राजनीति के चलते मोदी विरोध के कारण हमारे राजनीतिक विरोधी जो बयानबाजी कर रहे है उसका लाभ आतंकियो के सरपरस्त उठा रहे है।" 

प्रधानमंत्री मोदी ने दो दिन पहले लखनऊ में सूखे मेवे बेचने वाले कश्मीरियों के साथ मारपीट का मुद्दा भी उठाया और उसे गलत बताया। उन्होंने पुलवामा आतंकवादी हमलों में शहीद हुये श्याम बाबू तथा बडगाम हवाई दुर्घटना में मारे गये दीपक पांडेय को याद कर दोनों को श्रद्धांजलि दी। मोदी ने कहा, ''पुलवामा हमले के बाद हमारे वीर सेनानियों ने जो पराक्रम दिखाया है उससे आपका सीना चौड़ा हो गया ,आपका माथा गर्व से ऊंचा हो गया। भारत में भी दम है यह लगता है या नहीं लगता है, हमारी सेना जो तय करे वह कर सकती है। आप लोग खुश है आपका हौसला बुलंद है । लेकिन बहुत दुखद है कि हमारे घर में ही सेना के पराक्रम को नीचा दिखाने का दिन रात प्रयास किया जा रहा है। ऐसे लोगों को शर्म आनी चाहिये, लेकिन उनको नहीं आती है।’’ 

प्रधानमंत्री ने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुये कहा कि ''पाकिस्तान को जो अच्छा लगे,पाकिस्तान को जो पसंद आयें ऐसी बाते हिन्दुस्तान में बैठे हुये लोग करे, क्या ऐसे लोगों को माफ कर सकते है? क्या यह सेना का अपमान नही है,वीरों के पराक्रम का अपमान नहीं है। कुछ लोग जो काम जानबूझकर कर रहे है। मैं आजादी की जंग में अहम भूमिका अदा करने वाले इस कानपुर की धरती से आरोप लगा रहा हूं कि राजनीतिक स्वार्थ के लिये जिस प्रकार की बयानबाजी कर रहे है, जिस प्रकार की भाषा का प्रयोग कर रहे है सरकार पर जिस प्रकार के गंदे आरोप लगा रहे है इससे देश के दुश्मनों को ताकत मिल रही है। स्वार्थ की राजनीति के कारण, मोदी विरोध के कारण हमारे राजनीतिक विरोधी जो बयानबाजी कर रहे है उसका लाभ आतंकियों के सरपरस्त उठा रहे है।’’ 

मोदी ने कहा कि, ‘‘चुनाव तो आयेंगे जायेंगे लेकिन देश के दुश्मन इसका फायदा न उठाये इसकी जिम्मेदारी हर हिन्दुस्तानी की है, हर दल की है सभी की है, हर एक नेता की है। आज जब पाकिस्तान पर पूरी दुनिया का दबाव है और पाकिस्तान आतंकवाद पर रंगे हाथों पकड़ा गया है पाकिस्तान मुंह दिखाने लायक नहीं रहा है। सारी दुनिया पाकिस्तान पर दबाव बना रही है, ऐसे समय हमारे लोगों के बयान हमारे ही देश में से कुछ लोगों के बयान पाकिस्तान की मदद कर रहे है । क्या उनका ऐसा करना शोभा देता है? 

मोदी ने विपक्ष पर वार करते हुए कहा कि "मत भूलिये कि आपके बयानों को आधार बना रहा है। पाकिस्तान आप ही के बयानों को दुनिया में बांट रहा है, दिखा रहा है और पूरे विश्व में भ्रम फैला रहा है और यह पाप आपके द्वारा हो रहा है ।'' मोदी ने कहा, ‘‘सीमा पार आतंकियों के खिलाफ निर्णायक लडाई के बीच आपने देखा होगा एक के बाद एक हमारी सरकार कदम उठा रही है, उसके कारण आतंकी अपना अंत सामने देख रहे है,और जब अंत सामने दिख रहा है तो बौखलाहट और बढ. रही है। यह आतंकियो की बौखलाहट का परिणाम है कि जम्मू में कल फिर से इन्होंने आतंकी हमला करने का राक्षसी प्रयास किया है । जिस प्रकार हमारी सरकार सख्त कार्रवाई कर रही है और यह हमारी कार्रवाई का परिणाम है कि आतंकी बौखलायेंगे उनके सरपरस्त बौखलायेंगे और उन्हें दाना पानी देने वाले भी बौखलायेंगे ।'' 

प्रधानमंत्री ने कहा कि'' ऐसी स्थिति में हिन्दुस्तान के हम सब नागरिकों को सतर्क रहते हुये राष्ट्र के प्रति अपने दायित्वों को निभाने की पहले से ज्यादा जरूरत है । देश में एकता का वातावरण बनाये रखना बहुत अहम है। आतंकवाद को मोदी नहीं सवा सौ करोड़ हिन्दुस्तानी खत्म कर सकते है इसलिये देश में एकता का वातावरण चाहिए।" 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
budget-2019