1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. बारिश-धुंध में नहीं, 70 फीसदी से अधिक सड़क हादसे खिलखिलाती धूप वाले दिनों में हुए: रिपोर्ट

बारिश-धुंध में नहीं, 70 फीसदी से अधिक सड़क हादसे खिलखिलाती धूप वाले दिनों में हुए: रिपोर्ट

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, भारतीय सड़कों पर सबसे ज्यादा दुर्घटनाएं दिन के उजाले में यानी खिलखिलाती धूप वाले दिनों में हुई।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: October 14, 2018 20:40 IST
Over 70 percent road accidents occurred on bright sunny days, claims report- India TV
Over 70 percent road accidents occurred on bright sunny days, claims report
नयी दिल्ली: अधिकांश लोगों की धारणा है कि देश में ज्यादातर सड़क हादसे खराब मौसम, भारी बारिश और कोहरा के कारण होते हैं, लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, भारतीय सड़कों पर सबसे ज्यादा दुर्घटनाएं दिन के उजाले में यानी खिलखिलाती धूप वाले दिनों में हुई। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से 2017 में सड़क हादसों पर जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि 2017 में हुए करीब 4.7 लाख सड़क हादसों में से 3.4 लाख हादसे खिली धूप वाले दिनों में हुए। भारी बारिश, कोहरे या धुंध और ओलावृष्टि जैसी विपरित मौसमी परिस्थितियों में होने वाली सड़क दुर्घटना की कुल संख्या में हिस्सेदारी मात्र 16 प्रतिशत है। 
 
रिपोर्ट में कहा गया है कि बारिश, कोहरा और ओलावृष्टि जैसी परिस्थितियों में वाहन चलाने में दिक्कत आती है क्योंकि सड़क फिसलन लगती है और दृष्यता कम हो जाती है। हालांकि, 2017 के सड़क हादसे के  आंकड़े दर्शाते हैं कि तीन-चौथाई दुर्घटनाएं साफ मौसम या खिली धूप वाले दिनों में हुईं। पिछले साल 4.70 लाख सड़क हादसों में 1.47 लाख लोगों ने अपनी जान गंवाई।
 
आंकड़ों के मुताबिक, 2017 में भारत के कुल सड़क हादसों में खिली धूप में हुए हादसों की हिस्सेदारी 73.3 प्रतिशत यानी 3.40 लाख है। वहीं, सड़क हादसों के दौरान कुल 1,47,913 लोगों की मौत हुई, जिसमें 1.02 लाख लोग धूप वाले दिनों में मारे गये। बरसात के दिनों में पिछले साल कुल 44,010 सड़क हादसे हुए। यह कुल सड़क दुर्घटनाओं का सिर्फ 9.5 प्रतिशत है। यह सड़क हादसों में हुई मौतों की संख्या का 8.9 प्रतिशत (13,142) है। धुंध के दौरान कुल 26,982 हादसे हुए और ओलावृष्टि के कारण 3,078 सड़क हादसे हुए।
यह भी देखें
India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment