1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. मनोहर लाल खट्टर ने 'आप की अदालत' में कहा, 'हमारे प्रतिद्वंदी कमजोर हैं, हम हरियाणा में 75 से ज्यादा सीटें जीतेंगे'

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने 'आप की अदालत' में कहा- 'हमारे प्रतिद्वंदी बहुत कमजोर हैं, हम हरियाणा में 75 से ज्यादा सीटें जीतेंगे'

खट्टर ने कहा, 'पिछले 5 साल में हमारे अपने काम के फायदे हैं और बाय डिफॉल्ट (by default) हमें तो फायदा मिलेगा ही क्योंकि राजनीतिक लडाई में यदि प्रतिस्पर्धी कमजोर हो तो फायदा तो होगा ही होगा'।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: October 12, 2019 23:57 IST
Haryana CM M L Khattar in Aap Ki Adalat - India TV
Image Source : INDIA TV Haryana CM M L Khattar in Aap Ki Adalat 

नई दिल्ली: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि सत्तारूढ़ बीजेपी 21 अक्टूबर को होनेवाले चुनावों में विधानसभा की कुल 90 में से 75 से ज्यादा सीटों पर जीत हासिल करेगी। इंडिया टीवी पर आज रात 10 बजे प्रसारित शो 'आप की अदालत' में रजत शर्मा के सवालों का जवाब देते हुए खट्टर ने कहा: 'मैं तथ्यों के आधार पर कहता हूं  कि ''अब की बार 75 के पार''। अगर लोकसभा चुनाव में बीजेपी को 79 विधानसभा क्षेत्रों में लीड मिली, तो हमने 75 पार कह दिया तो क्या गलत कहा। 79 तो 75 पार ही तो है।'

राजनीतिक लडाई में यदि प्रतिस्पर्धी कमजोर हो तो फायदा होगा 

खट्टर ने कहा, 'पिछले 5 साल में हमारे अपने काम के फायदे हैं और बाय डिफॉल्ट (by default) हमें तो फायदा मिलेगा ही क्योंकि राजनीतिक लडाई में यदि प्रतिस्पर्धी कमजोर हो तो फायदा तो होगा ही होगा'। विपक्ष के इस आरोप पर कि बीजेपी शासन के दौरान बेरोजगारी बढ़ी है, खट्टर ने कहा: 'सरकारी नियुक्तियों के मामलों में हमने पारदर्शी नीति अपनायी। हमने सारे सिस्टम में सुधार किया। सारे कमीशन एजेन्ट बीच से हटा दिये गये। ये लोग रोजगार दिलाने के लिए रिश्वत लेते थे। यही लोग अब बेरोजगार हैं।'

हरियाणा में बीबीसी इंडस्ट्री चल रही थी

'हरियाणा में बीबीसी इंडस्ट्री चल रही थी। बीबीसी यानी बदलियां, भर्तियां, सीएलयू (चेंज ऑफ लैंड यूज)। ये सब एक तरह से इंडस्ट्री चल रही थी, जिनमें बगैर रिश्वत के काम नहीं होता था। ये सब बेरोजगार हो गए। अन्यथा हमारे यहां बेरोजगारी नहीं है।' खट्टर ने आरोप लगाया कि बेरोजगारी का आंकड़ा देनेवाली सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) के जो हेड हैं वो लोकसभा चुनावों के दौरान एआईसीसी मेनिफेस्टो कमिटी के सदस्य थे। 'आज वही हरियाणा, महाराष्ट्र पर बेरोजगारी के आंकड़े दे रहे हैं, क्योंकि यहां चुनाव हैं। बाकी दूसरे राज्यों का नहीं दे रहे हैं। हमारे यहां बेरोजगारी कहीं नहीं है।'

गोमांस खाना ठीक नहीं 

गोमांस (बीफ) को लेकर पूर्व में दिये अपने विवादास्पद बयान पर कि बीफ खाने वालों के लिए भारत में कोई जगह नहीं है, खट्टर ने कहा, 'बीफ पर मेरे बारे में रिपोर्ट आधी ठीक, आधी गलत है। हम समाज में सहअस्तित्व में रहते हैं। एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान करना चाहिए। समाज का एक बड़ा वर्ग गोरक्षा में विश्वास करता है, गोमांस खाना ठीक नहीं है। मैंने ये नहीं कहा कि गोमांस खाने वाले भारत में नहीं रह सकते। लेकिन मेरा आज भी ये कहना है कि लोगों को गोमांस नहीं खाना चाहिए। हमें एक दूसरे की भावना का आदर करना चाहिए।'

रेप के 35 प्रतिशत मामले झूठे 

वहीं रेप को लेकर पूर्व में दिये अपने विवादास्पद बयान पर खट्टर ने कहा, 'रेप के बारे में सरकारी आंकड़े बताते हैं कि 35 प्रतिशत मामले एक प्रकार से झूठे हैं। दूसरा, ये कानून और व्यवस्था का मामला नहीं, एक सामाजिक समस्या है। समाज में जागरुकता लाना जरूरी है।' हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा, 'नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो के मुताबिक 92 प्रतिशत रेप और मोलेस्टेशन के मामले knowns (एक-दूसरे को जाननेवाले) के बीच होते पाए गए हैं, ये या तो रिश्तेदार हैं, या पड़ोसी, या एक दूसरे को जानते हैं। केवल दंडात्मक कानून बनाने से इसके ज्यादा रुकने की संभावना कम है। हरियाणा में हमने 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ रेप करने वालों को मृत्युदंड देने का कानून बनाया है। केन्द्र ने बाद में हमारे कानून को ही संसद में पास करवा कर पूरे देश के लिए लागू किया।'

मैं अपने प्रदेश का चौकीदार, सेवादार हूं

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला की इस चुनौती पर कि यदि सीएम कठिन प्रश्नपत्र वाली क्लर्क की परीक्षा को पास कर लेते हैं तो वह सार्वजनिक जीवन से संन्यास ले लेंगे, खट्टर ने जवाब दिया, ‘मुझे क्लर्क बनने की आवश्यकता नहीं है। मैं अपने प्रदेश का चौकीदार, सेवादार हूं। सुरजेवाला कितने पढ़े-लिखे हैं, वे अपने गणित में फेल हो चुके हैं। उन्होंने गणित से प्लान बनाया और जींद में उपचुनाव लडा। उनकी जमानत 1000 वोट के मार्जिन से जब्त होते-होते रह गई। उन्हें 20 हजार वोट मिले। खुद को कांग्रेस का सूत्रधार और राहुल बाबा का दाहिना हाथ बताने वाले को जींद की जनता ने धूल चटा दी।’ यह पूछे जाने पर कि उन्होंने तीन लालों (भजनलाल, बंसीलाल, देवीलाल) के परिवारों के वर्चस्व को कैसे खत्म किया, खट्टर ने जवाब दिया, ‘मेरे माता-पिता ने मेरा नाम मनोहर लाल रखा है, लेकिन मैं हरियाणा के 2.5 करोड़ लोगों को अपना लाल मानता हूं।’

मुझे ऐसा व्यक्ति नहीं मिला जिसके पास नरेंद्र मोदी जैसी दूरदृष्टि हो

खट्टर ने खुलासा किया कि वह 1996 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नजदीक आए, जब वे दोनों पंचकुला में थे। उस समय खट्टर हरियाणा के लिए संगठन सचिव थे, और मोदी हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के प्रभारी थे। खट्टर ने कहा, ‘उन पांच सालों में मैंने काफी कुछ सीखा। नरेंद्र मोदी नए विचारों से भरे थे, और उन्होंने मुझे बहुत प्रभावित किया। मुझे आज तक ऐसा व्यक्ति नहीं मिला जिसके पास नरेंद्र मोदी जैसी दूरदृष्टि हो।’ खट्टर ने खुलासा करते हुए कहा, ‘2014 में मुख्यमंत्री बनने के बाद जब मैं मोदी जी मार्गदर्शन लेने के लिए उनसे मिला, तो उन्होंने मुझसे कहा कि आप सीएम बनने से पहले कम से कम विधायक तो हैं। जब मैं गुजरात का सीएम बना था तब मैं विधायक भी नहीं था।’

इस बार की कसर अगली बार पूरी कर लेंगे

यह पूछे जाने पर कि उन्होंने विवाह क्यों नहीं किया, हरियाणा के मुख्यमंत्री ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया, ‘हमारी संस्कृति में हम पुनर्जन्म पर विश्वास करते हैं। इस बार की कसर अगली बार पूरी कर लेंगे।’

रजत शर्मा के शो 'आप की अदालत' में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का प्रसारण 12 अक्टूबर रात 10 बजे इंडिया टीवी पर हुआ। इसे रविवार (13 अक्टूबर) सुबह 10 बजे और रात में 10 बजे फिर से प्रसारित किया जाएगा। 

India TV Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban