1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. दिल्ली हाईकोर्ट ने अजीत डोभाल फोन टैपिंग मामले की SIT से जांच कराए जाने पर मांगा केंद्र व CBI से जवाब

दिल्ली हाईकोर्ट ने अजीत डोभाल फोन टैपिंग मामले की SIT से जांच कराए जाने पर मांगा केंद्र व CBI से जवाब

सीबीआई के पूर्व डायरेक्टर आलोक वर्मा के खिलाफ दिल्ली उच्च न्यायालय में दाखिल याचिका पर नोटिस जारी हुआ है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: January 15, 2019 23:39 IST
NSA Ajit Doval’s phone tapping: Delhi HC seeks Centre, CBI reply on plea for SIT probe- India TV
NSA Ajit Doval’s phone tapping: Delhi HC seeks Centre, CBI reply on plea for SIT probe

नई दिल्ली: सीबीआई के पूर्व डायरेक्टर आलोक वर्मा के खिलाफ दिल्ली उच्च न्यायालय में दाखिल याचिका पर नोटिस जारी हुआ है। स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम द्वारा इस मामले पर जांच कराने को लेकर दाखिल याचिका पर दिल्ली उच्च न्यायालय ने नोटिस जारी कर भारत सरकार व सीबीआई से जवाब मांगा। याचिका पर आज हुई सुनवाई याचिकाकर्ता अधिवक्ता सर्वोच्च न्यायालय सार्थक चतुर्वेदी की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता कीर्ति उप्पल, अमित तिवारी, अंकित आनंदराज शाह ने सीबीआई के पूर्व प्रमुख द्वारा गलत तरीके से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल व अन्य उच्च अधिकारियों का काल टैप किया।

दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र मेनन, व वी कामेश्वर राव के समक्ष आज हुई सुनवाई में देश की सुरक्षा को लेकर गंभीर मुद्दा बताते हुए वरिष्ठ अधिवक्ता कीर्ति उप्पल ने न्यायालय के समक्ष सर्वोच्च न्यायालय में आलोक वर्मा की याचिका पर सुनवाई के दौरान दाखिल याचिका पर मनीष सिन्हा द्वारा शपथपत्र में राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर गंभीर बातें कहीं, इसको न्यायालय के समक्ष रखते हुए वरिष्ठ अधिवक्ता ने न्यायालय को इस मामले को गंभीरता से लेने का आग्रह किया।

गलत तरीके से की गई कॉल टैपिंग पर दाखिल की गई है याचिका में वरिष्ठ अधिवक्ता कीर्ति उप्पल, अमित तिवारी, अंकित आनंदराज शाह, आदर्श वर्मा ने याचिकाकर्ता सार्थक चतुर्वेदी की याचिका पर न्यायालय को अवगत कराया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार से लेकर देश के सर्वोच्च अधिकारियों की काल टैपिंग सीबीआई के उच्च अधिकारियों द्वारा की गई। राष्ट्रीय सुरक्षा को ताक पर रख पूर्व निदेशक सीबीआई ने मनमानी करते हुऐ बिना परमिशन के काल टैपिंग की गई। न्यायालय को यह भी अवगत कराया गया कि पूर्व निदेशक आलोक वर्मा व उनके कुछ साथी बड़े भ्रष्टाचार में संलिप्त हैं तथा अपने निजी हितों के लिये सभी उच्च अधिकारियों के कॉल टैप किये गए। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment