1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. समय से पहले नहीं रिहा होंगे जेसिका लाल, प्रियदर्शिनी मट्टू और नैना साहनी के हत्यारे

समय से पहले नहीं रिहा होंगे जेसिका लाल, प्रियदर्शिनी मट्टू और नैना साहनी के हत्यारे

जेसिका की 20 अप्रैल 1999 को दिल्ली के एक बार में मनु शर्मा ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

Edited by: IndiaTV Hindi Desk [Published on:05 Oct 2018, 12:54 PM IST]
जेसिका की 20 अप्रैल 1999 को दिल्ली के एक बार में मनु शर्मा ने गोली मारकर हत्या कर दी थी- India TV
जेसिका की 20 अप्रैल 1999 को दिल्ली के एक बार में मनु शर्मा ने गोली मारकर हत्या कर दी थी

नई दिल्ली: मॉडल जेसिका लाल हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा काट रहे मनु शर्मा की जल्द रिहाई के आवेदन को दिल्ली सरकार के दंड समीक्षा बोर्ड ने गुरुवार को खारिज कर दिया है। इसके साथ ही बोर्ड ने प्रियदर्शिनी मट्टू और तंदूर हत्या मामलों के दोषियों की भी जल्द रिहाई का अनुरोध ठुकरा दिया। जेसिका की 20 अप्रैल 1999 को दिल्ली के एक बार में मनु शर्मा ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। दिसंबर 2006 को दिल्ली हाई कोर्ट ने उसे दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी जिसे अप्रैल 2010 में सुप्रीम कोर्ट ने बरकरार रखा था।

दिल्ली के गृह मंत्री सत्येंद्र जैन की अध्यक्षता वाली समिति ने जेसिका लाल के हत्यारे मनु शर्मा, प्रियदर्शिनी मट्टू हत्या मामले के दोषी संतोष सिंह और कुख्यात तंदूर हत्याकांड के दोषी सुशील शर्मा के आवेदनों पर विचार किया और इन्हें खारिज कर दिया। सरकारी अधिकारी ने कहा, ‘बोर्ड ने तीनों दोषियों की जल्द रिहाई के आवेदन को खारिज कर दिया।’ अधिकारी ने कहा कि बोर्ड ने 22 दोषियों को उनकी सजा पूरी होने पर रिहा करने की सिफारिश की, जबकि 86 अन्य मामले खारिज कर दिए।

23 जनवरी, 1996 को 25 वर्षीय लॉ स्टूडेंट प्रियदर्शिनी मट्टू की संतोष सिंह ने रेप के बाद हत्या कर दी गई थी। संतोष को दिल्ली हाई कोर्ट ने 2006 में आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी जिसे सुप्रीम कोर्ट ने भी 2010 में बरकरार रखा था। वहीं, जुलाई 1995 को कांग्रेस की कार्यकर्ता नैना साहिनी की उनके विधायक पति सुशील शर्मा ने हत्या कर दी थी और शव को तंदूर में जला दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने सुशील को 2013 में आजीवन कारावस की सजा सुनाई थी।

इंडिया टीवी 'फ्री टू एयर' न्यूज चैनल है, चैनल देखने के लिए आपको पैसे नहीं देने होंगे, यदि आप इसे मुफ्त में नहीं देख पा रहे हैं तो अपने सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करें।
Web Title: No early release for murderes of Jessica Lal, Priyadarshini Mattoo and Naina Sahni
Write a comment
ipl-2019