1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. केरल बाढ़: MAIT के शिक्षकों और छात्रों ने 32 लाख रुपए की राशि राहत कोष में दी

केरल बाढ़: MAIT के शिक्षकों और छात्रों ने 32 लाख रुपए की राशि राहत कोष में दी

केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए महाराजा अग्रसेन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एवं मैनेजमेंट के शिक्षकों और छात्रों की ओर से बाढ़ राहत कोष में 32 लाख रुपए की सहायता राशि प्रदान की गई।

Edited by: India TV News Desk [Updated:07 Sep 2018, 2:57 PM IST]
Maharaja Agrasen Institute of Management and Technology- India TV
Maharaja Agrasen Institute of Management and Technology

नई दिल्ली: केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए महाराजा अग्रसेन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एवं मैनेजमेंट के शिक्षकों और छात्रों की ओर से बाढ़ राहत कोष में 32 लाख रुपए की सहायता राशि प्रदान की गई। संस्थान के संस्थापक अध्यक्ष डॉ नंद किशोर गर्ग ने शिक्षकों और छात्रों की ओर से प्रधानमंत्री राहत कोष में 21 लाख और सेवा भारती के लिए 11 लाख का चेक केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे को सौंपे।

पूरे भारत में 25 सितंबर को आयुष्मान भारत स्कीम होगी लांच

महाराजा समारोह में अश्विनी चौबे ने सरकार की महत्वाकांक्षी योजना ‘आयुष्मान भारत स्कीम’ पर प्रकाश डालते हुए कहा कि कि पूरे भारत में 25 सितंबर को आयुष्मान भारत स्कीम लांच की जाएगी। इस योजना के तहत इस वर्ष हमलोग 1.5 लाख इलनेस /बीमारू सेंटर में से 15 हजार को वेलनेस सेंटर में बदल रहे हैं और 2022 तक पूरे देश में वेलनेस सेंटर हो जाएगा। इस स्कीम का सीधा फायदा देश में गरीबी रेखा के नीचे रह रहे 10 लाख परिवारों को मिलेगा।

युवाओं को सजग कर देश को बचाया जा सकता है

इस मौके पर अश्विनी चौबे ने कहा कि ‘‘हमारी शिक्षा पद्धति ऐसी हो जो संस्कार पर आधारित, रोजगारमूलक, व्यवसायिक हो और उसमें बेरोजगारी समस्या का भी समाधान हो। वहीं महाराजा अग्रसेन टेक्निकल एजुकेशन सोसायटी के संस्थापक व अध्यक्ष नंद किशोर गर्ग ने कहा कि आज देश में विरोधी तत्वों की संख्या बढ़ गई है। लेकिन युवाओं को सजग कर देश को बचाया जा सकता है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: केरल बाढ़: MAIT के शिक्षकों और छात्रों ने 32 लाख रुपए की राशि राहत कोष में दी
Write a comment