1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. मध्य प्रदेश: मंदसौर में बच्ची से दरिंदगी के मामले में दूसरा आरोपी भी गिरफ्तार

मध्य प्रदेश: मंदसौर में बच्ची से दरिंदगी के मामले में दूसरा आरोपी भी गिरफ्तार

इस मामले में पकड़े गए पहले आरोपी इरफान (20) ने पुलिस पूछताछ में बताया कि बालिका से रेप की वारदात में उसके साथ मंदसौर के मदरपुरा का रहने वाला आसिफ भी शामिल था...

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: June 29, 2018 18:55 IST
Madhya Pradesh: Police arrests another suspect in Mandsaur abduction and rape case | AP File- India TV
Madhya Pradesh: Police arrests another suspect in Mandsaur abduction and rape case | AP File

मंदसौर: मध्य प्रदेश के मंदसौर में 7 साल की बच्ची से हुई दरिंदगी के मामले में पुलिस को बड़ी कामयबादी हाथ लगी है। बच्ची के अपहरण और दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने 24 वर्षीय एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में पकड़े गए पहले आरोपी इरफान (20) ने पुलिस पूछताछ में बताया कि बालिका से रेप की वारदात में उसके साथ मंदसौर के मदरपुरा का रहने वाला आसिफ भी शामिल था। इसके बाद पुलिस ने इस मामले के दूसरे आरोपी को भी शुक्रवार को धर दबोचा। 

मंदसौर का मुस्लिम समाज भी घटना से आक्रोशित

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एसएस कनेश ने बताया कि जांच के बाद मासूम बच्ची से रेप के मामले में दूसरे आरोपी आसिफ को भी शुक्रवार को पोस्को कानून तथा IPC की सम्बद्ध धाराओं में गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि आसिफ मकान की छत डालने के लिए सेंटिग बनाने का काम करता है। इस मामले में शहर के मुस्लिम समाज एवं मेव वेलफेयर सोसाइटी की ओर से प्रशासन को एक ज्ञापन सौंपा गया है। ज्ञापन में कहा गया है कि निजी विद्यालय की बालिका का अपहरण करके जिस अमानवीयता का परिचय आरोपियों ने दिया है, उसके कारण बहुसंख्यक समाज के साथ ही मुस्लिम समाज भी आक्रोशित होकर शर्म महुसस कर रहा है। 

पकड़े गए आरोपियों के लिए फांसी की मांग
इस अमानवीय घटनाकम की मुस्लिम समाज निंदा करते हुए पीड़ित बालिका एवं परिजनों के साथ दुख की घड़ी में भागीदार है। ज्ञापन में इस अमानवीय वारदात के आरोपियों को न्याय व्यवस्था में तेजी लाते हुए त्वरित सुनवायी अदालत के जरिए फांसी की सजा दिलवाए जाने का आग्रह किया गया है। इसके अलावा आंगनवाड़ी एवं आशा-ऊषा सहयोगिनी कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल के नाम दिये गए ज्ञापन में घटना की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए त्वरित सुनवाई अदालत की स्थापना कर पकड़े गए आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने की मांग की है।

छुट्टी के बाद किया था अपहरण
मालूम हो कि मंदसौर में 26 जून को छुट्टी के बाद स्कूल के बाहर से नाबालिग बालिका का अपहरण करके उसके साथ बलात्कार कर उसे जान से मारने की कोशिश करते हुए उसे झाड़ियों में फेंक दिया गया था। पुलिस ने इस मामले में 27 जून की देर रात को एक आरोपी इरफान को गिरफ्तार कर लिया था। मंदसौर में लोगों ने इस घटना के खिलाफ कल 28 जून को शहर बंद रखा। उन्होंने बताया कि एक निजी स्कूल की कक्षा 3 में पढ़ने वाली नाबालिग मासूम बच्ची का बुधवार 26 जून की शाम को अपहरण होने की सूचना पर उसकी तलाश में अभियान चलाया गया। 

घायल अवस्था में मिली थी बच्ची
पुलिस के अभियान के दौरान बच्ची शहर के बस स्टैंड के समीप लक्ष्मण दरवाजे के झाड़ियों में घायल अवस्था में पड़ी मिली थी। बच्ची को मंदसौर में इलाज के बाद इंदौर रेफर किया गया है जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई गई है। चिकित्सकीय जांच में नाबालिग बच्ची से बलात्कार की पुष्टि हुई है। पुलिस मामले की विस्तृत जांच कर रही है।

देखें वीडियो: बलात्कारी धरती पर बोझ, जीने का अधिकार नहीं- शिवराज सिंह चौहान

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment