1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. भारत में शहर-शहर मासूम बच्चियों के साथ दरिंदगी, कोई सुरक्षा की गारंटी देने को तैयार नहीं

भारत में शहर-शहर मासूम बच्चियों के साथ दरिंदगी, कोई सुरक्षा की गारंटी देने को तैयार नहीं

FSL रिपोर्ट में पता चला है कि उसके शरीर पर 80 से भी ज्यादा चोटों के निशान थे। प्राइवेट पार्ट को बुरी तरह नुकसान पहुंचाकर, गला घोंट कर, झांड़ियों में फेंक दिया गया। वहीं हरियाणा के रोहतक के टिटोली गांव की नहर में एक बैग में से 8 से 10 साल की एक बच्ची का शव मिला है।

Written by: IndiaTV Hindi Desk [Updated:17 Apr 2018, 12:43 PM IST]
Innocent girls being raped and murdered in different parts of the country- India TV
शहर-शहर मासूम बच्चियों के साथ दरिंदगी, कोई सुरक्षा की गारंटी देने को तैयार नहीं  

नई दिल्ली: पिछले 72 घंटों में देश के अलग-अलग हिस्सों से ऐसी खबरें आई है, जो हिलाकर रख देती है। कहीं 8 साल की बच्ची के साथ रेप, कहीं 9 साल की बच्ची के साथ रेप के बाद हत्या। लोग सड़कों पर हैं और सुरक्षा की गारंटी मांग रहे हैं लेकिन हर राज्य की सरकार मौन है, कोई सुरक्षा की गारंटी देने को तैयार नहीं। पूरा देश शर्मिंदा है क्योंकि सूरत, राजकोट, रोहतक और हापुड़ की बच्चियों के कातिल अब तक जिंदा है। पूरा देश इन सवालों को जानना चाहता है, क्या इसी को लोकतंत्र कहते हैं? इसी को सरकार कहते हैं? इसी को सुरक्षा कहते हैं?

6 अप्रैल की सुबह 6 बजे का वक्त था जब सूरत में सड़क किनारे एक लड़की का शव मिला जिस पर जख्म ही जख्म थे। शव की हालत ऐसी थी कि देखने वालों का कलेजा कांप उठा। बच्ची के शव को छूते हुए पुलिसवालों के हाथ भी कांपने लगे। ये लड़की कौन थी? इसे किसने मारा और लाश यहां पहुंची कैसे? ये सारे सवाल अब तक अनसुलझे हैं लेकिन अब तक जो पता चला है उसे सुनकर आपके रौंगटे खड़े हो जाएंगे, शरीर सिहर उठेगा। 11 साल की इस बच्ची के साथ बलात्कार किया गया फिर बेरहमी से उसे मारकर फेंक दिया गया।

FSL रिपोर्ट में पता चला है कि उसके शरीर पर 80 से भी ज्यादा चोटों के निशान थे। प्राइवेट पार्ट को बुरी तरह नुकसान पहुंचाकर, गला घोंट कर, झांड़ियों में फेंक दिया गया। वहीं हरियाणा के रोहतक के टिटोली गांव की नहर में एक बैग में से 8 से 10 साल की एक बच्ची का शव मिला है। सूरत की तरह यहां भी अब तक बच्ची की पहचान नहीं हो पाई है।

फिलहाल पुलिस कह रही है कि हत्या करके बच्ची को बुरी तरह तड़ापाया गया है लेकिन बच्ची के साथ किस तरह की हैवानियत हुई है, इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद होगा। सोमवार को उत्तर प्रदेश के हापुड़ के थाने में मां-बाप शिकायत करने पहुंचे थे कि दरिंदों ने हमारी फूल सी बच्ची की मुस्कान छिन ली है। तीन लड़के हमारी बेटी को उठा ले गए और रात भर अपने साथ घुमाते रहे। लड़की परचून की दुकान से सामान लेने निकली थी। तीन लड़कों ने अपहरण कर लिया और रेप के बाद देर रात खेत में छोड़कर भाग गए।

उत्तर प्रदेश के एटा में कठुआ से मिलते-जुलते एक वारदात को अंजाम दिया गया है। यहां आठ साल की मासूम बच्ची को किडनैप कर रेप किया गया और रेप के बाद मासूम बच्ची की गला दबाकर हत्या कर दी गई। वारदात रात डेढ़ बजे अंजाम दी गई। बच्ची अपने परिवार के साथ पड़ोस में शादी में आई थी तभी शादी में टेंट लगाने का काम करने वाले एक युवक ने बच्ची को बहाने से किडनैप किया उसके बाद उसके साथ बलात्कार करने के बाद गला दबाकर हत्या कर मौके से फरार हो गया।

क्या जानती है सरकार 10 साल की बच्ची के शरीर पर 80 जख्मों के निशान का होना? क्या जानते हैं हमारे सियासत के पहरेदार 8 साल की बच्ची को तड़पाकर मार दिए जाने का मतलब? जिस राज्य में भेड़ियों ने बच्चियों को नोंचकर झाड़ियों में फेंक दिया है, वहां का राजा कैसे हो सकता है? देश बोल रहा है, बेटियां हम शर्मिंदा है, तुम्हारे कातिल जिंदा है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: भारत में शहर-शहर मासूम बच्चियों के साथ दरिंदगी, कोई सुरक्षा की गारंटी देने को तैयार नहीं - Innocent girls being raped and murdered in different parts of the country, no one ready to guarantee their security
Write a comment