1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. WhatsApp को सरकार की सख्त चेतावनी, भारत में स्थानीय कंपनी बनाए, फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए ढूंढे समाधान

WhatsApp को मोदी सरकार की सख्त चेतावनी, कहा- लोकल कंपनी करो स्‍थापित, फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए ढूंढो समाधान

Read In English

उल्लेखनीय है कि हाल में देश में कुछ स्थानों पर व्हाट्सएप पर अफवाह से जुटी भीड़ ने कुछ लोगों की पीट पीट कर हत्या कर दी। तब से सरकार ऐसे संदेशों के स्रोत का पता लगाने का समाधान चाहती है।

India TV News Desk India TV News Desk
Updated on: August 21, 2018 19:28 IST
Union IT Minister Ravi Shankar Prasad and WhatsApp CEO...- India TV
Union IT Minister Ravi Shankar Prasad and WhatsApp CEO Chris Daniels

नई दिल्ली: सरकार ने व्हाट्सएप को आज सख्ती से कहा कि उसे यदि भारत में काम करना है तो इसके लिए स्थानीय कंपनी बनानी होगी तथा इस एप पर किसी फर्जी संदेश के स्रोत का पता लगाने का तकनीकी समाधान तलाशना होगा। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने व्हाट्सएप प्रमुख क्रिस डेनियल्स के साथ बैठक के बाद कहा कि फेसबुक के स्वामित्व वाले इस संदेश आदान-प्रदान एप ने भारत की डिजिटल अर्थव्यवस्था की कहानी में उल्लेखनीय योगदान किया है लेकिन उसे भीड़ के हमले तथा प्रतिशोध के लिए अश्लील तस्वीरें प्रेषित करने जैसे दुष्क्रित्यों से निपटने के समाधान तलाशने होंगे।

उल्लेखनीय है कि हाल में देश में कुछ स्थानों पर व्हाट्सएप पर अफवाह से जुटी भीड़ ने कुछ लोगों की पीट पीट कर हत्या कर दी। तब से सरकार ऐसे संदेशों के स्रोत का पता लगाने का समाधान चाहती है। मंत्री ने कहा, ‘‘मेरी व्हाट्सएप के सीईओ क्रिस डेनियल्स के साथ सार्थक बैठक हुई है। व्हाट्सएप ने पूरे देश में जागरूकता फैलाने में जो काम किया है, उसके लिए मैं उनकी सराहना करता हूं...लेकिन भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या तथा बदले की कार्रवाई के तहत अश्लील तस्वीरें बिना साथी के मर्जी के डालने जैसी अहितकर गतिविधियों का समाधान आपको तलाशना होगा जो पूरी तरह आपराधिक तथा भारतीय कानून का उल्लंघन है।’’

प्रसाद ने कहा कि उन्होंने व्हाट्सएप से भारत में कॉरपोरेट इकाई स्थापित करने, शिकायत निपटान अधिकारी नियुक्त करने और फर्जी संदेश की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए तकनीकी समाधान तलाशने को कहा है। उन्होंने कहा, ‘‘...मैंने पहले भी इस मामले को उठाया था और कहा था कि सैकड़ों और हजारों की संख्या में प्रसारित होने वाले संदेश के बारे में पता लगाने में कोई ‘राकेट साइंस’ नहीं है...आपके पास समाधान के लिए व्यवस्था होनी चाहिए।’’

प्रसाद के अनुसार फेसबुक की अगुवाई वाली कंपनी ने आश्वस्त किया कि वह इन बिंदुओं के अनुपालन की दिशा में काम कर रही है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment