1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. भारत, चीन ने काफी हद तक सीमा विवाद सुलझा लिया है: राम माधव

भारत, चीन ने काफी हद तक सीमा विवाद सुलझा लिया है: राम माधव

माधव ने कहा कि अधिकांश बड़े मुद्दे पश्चिमी क्षेत्र में हैं, जबकि कुछ क्षेत्रों को अभी भी सीमांकित किए जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि भारत के पड़ोसी नई दिल्ली और बीजिंग के बीच बढ़ रही दोस्ती से खुश हैं।

Reported by: IANS [Published on:16 Aug 2018, 6:59 AM IST]
भारत, चीन ने काफी हद तक सीमा विवाद सुलझा लिया है: राम माधव- India TV
भारत, चीन ने काफी हद तक सीमा विवाद सुलझा लिया है: राम माधव

नई दिल्ली: भाजपा नेता राम माधव ने बीजिंग में बुधवार को कहा कि भारत और चीन के बीच सीमा वार्ता अच्छी तरह से चल रही है और दोनों देशों ने अपनी विवादास्पद सीमाओं के मुद्दे को काफी हद तक सुलझा लिया है।

भारतीय जनता पार्टी के महासचिव ने कहा, "सीमा वार्ता सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ रही है। जहां तक मुझे पता है, हमारी सीमाओं के विवादास्पद भाग के बड़े हिस्से सुलझा लिया गया है। कुछ क्षेत्र हैं जिन्हें लेकर बात चल रही है।"

माधव ने कहा कि अधिकांश बड़े मुद्दे पश्चिमी क्षेत्र में हैं, जबकि कुछ क्षेत्रों को अभी भी सीमांकित किए जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि भारत के पड़ोसी नई दिल्ली और बीजिंग के बीच बढ़ रही दोस्ती से खुश हैं।

माधव ने कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने वुहान में मुलाकात के बाद निजी रिश्ते विकसित किए हैं, जो कि भारत-चीन संबंध में दिक्कत पैदा करने वाली बातों (इरिटेंट्स) से उबरने में मदद कर सकता है।" उन्होंने कहा, "वुहान स्प्रिट दोनों देशों के बीच अब नया मुहावरा है, जिसकी मदद से मोदी और शी के बीच मजबूत निजी संबंध विकसित हुए हैं।

उन्होंने कहा, "नेताओं के बीच तालमेल से दो देशों के बीच मौजूद उत्तेजित करने वाले चीजों से उबरने में मदद मिलती है। वास्तव में, हमारे पड़ोसी हमसे कह रहे हैं कि वे दोनों देशों के बीच सम्मेलन स्तर पर अच्छे संबंध से बहुत खुश हैं।"

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: भारत, चीन ने काफी हद तक सीमा विवाद सुलझा लिया है: राम माधव - India, China resolved dispute over large segment of border: Ram Madhav
Write a comment