1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. सूरत में भीषण हादसा: ट्यूशन पढ़ रहे बच्चे आग में घिरे, 20 की मौत के बाद सरकार ने किया मुआवजे का ऐलान

सूरत में भीषण हादसा: ट्यूशन पढ़ रहे बच्चे आग में घिरे, 20 की मौत के बाद सरकार ने किया मुआवजे का ऐलान

सूरत के एक वाणिज्यिक परिसर में शुक्रवार को आग लगने के बाद एक ‘कोचिंग क्लास’ के छात्रों ने इमारत से कूदना शुरू कर दिया, जिससे कई बच्चों की मौत हो गई।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: May 24, 2019 23:57 IST
Gujarat: Fire breaks out on the second floor of a building in Sarthana area of Surat- India TV
Image Source : PTI Gujarat: Fire breaks out on the second floor of a building in Sarthana area of Surat

सूरत: गुजरात के सूरत वाणिज्यिक परिसर में शुक्रवार दोपहर आग लगने के बाद एक ‘कोचिंग क्लास’ के करीब 20 छात्रों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए। टीवी चैनलों पर दिखाईं जा रही वीडियो में सरथना इलाके के तक्षशिला परिसर में लगी आग का भयानक मंजर दिखाई दिया, जहां छात्र आग से बचने के लिए खिड़कियों से कूदते नजर आए। गुजरात सरकार ने बताया कि 20 बच्चों की मौत दम घुटने या आग लगी इमारत से कूदने के कारण हुई।’’

गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा, ‘‘ हमने मामले में विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं और दोषी पाए गए किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा।’’ राज्य के दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘ करीब 10 छात्र आग से बचने के लिए तीसरी और चौथी मंजिल से कूद गए। कई लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आग बुझाने का काम जारी है।’’

सूरत अग्निशमन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि 19 दमकल गाड़ियों को मौके पर भेजा गया और आग पर काबू पाने के लिए दो हाइड्रोलिक प्लेटफार्म भी बनाए गए हैं। स्थानीय लोग भी बचाव अभियान में अधिकारियों की मदद कर रहे हैं। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने शहरी विकास विभाग के प्रमुख सचिव को तत्काल घटनास्थल पर पहुंचने का आदेश दिया है। उन्होंने मृतकों के परिजनों को चार चार लाख रूपए की वित्तीय सहायता मुहैया कराने का ऐलान भी किया है।

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने शुक्रवार को सूरत के सरथाना में चार मंजिला वाणिज्यिक इमारत में आग लगने की घटना के बाद स्कूलों, कॉलेजों और कोचिंग सेंटर में आग से सुरक्षा को लेकर ऑडिट कराने का आदेश दिया। घटनास्थल का जायजा लेने के बाद रूपाणी ने कहा कि ऑडिट में पता लगाया जाएगा कि राज्य में शैक्षणिक संस्थानों में आग की घटना से बचाव के लिए समुचित उपकरण और सुविधाएं हैं या नहीं। उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्य शहरों और नगरों में अस्पताल, मॉल और दूसरी वाणिज्यिक इमारतों को भी ऑडिट में शामिल किया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सूरत में भयंकर अग्निकांड पर शुक्रवार को गहरा दुख प्रकट किया और गुजरात सरकार एवं स्थानीय प्रशासन को प्रभावित लोगों को सभी संभव सहायता प्रदान करने का निर्देश दिया। मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘ सूरत के अग्निकांड से बहुत दुख हुआ। मेरी संवदेना शोक संतप्त परिवारों के साथ है। कामना करता हूं कि घायल लोग शीघ्र स्वस्थ हो। (मैंने) गुजरात सरकार और स्थानीय प्रशासन से प्रभावितों को सभी संभव सहायता देने को कहा है।’’ सूरत के तक्षशिला परिसर के तीसरे और चौथे तल पर भयंकर आग लग गयी थी। टीवी पर नजर आ रहा था कि बच्चे इस भवन के तीसरे और चौथे तल से छलांग लग रहे हैं।

 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
yoga-day-2019