1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. केंद्र सरकार ने निर्भया फंड के तहत महिला सुरक्षा के लिए 4000 करोड़ रुपए मंजूर किए

केंद्र सरकार ने निर्भया फंड के तहत महिला सुरक्षा के लिए 4000 करोड़ रुपए मंजूर किए

केंद्र ने महिला सुरक्षा से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं के लिये निर्भया फंड के तहत करीब 4000 करोड़ रुपये मंजूर किये हैं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 26, 2019 17:20 IST
Centre sanctions Rs 4,000 crore for women safety projects under Nirbhaya Fund- India TV
Centre sanctions Rs 4,000 crore for women safety projects under Nirbhaya Fund

नयी दिल्ली: केंद्र ने महिला सुरक्षा से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं के लिये निर्भया फंड के तहत करीब 4000 करोड़ रुपये मंजूर किये हैं। इन परियोजनाओं में दुष्कर्म और तेजाब हमला पीड़िता को आर्थिक सहायता और महिला व बच्चों के लिये विशेष पुलिस इकाइयों की स्थापना शामिल है। गृह मंत्रालय के एक दस्तावेज के मुताबिक सबसे ज्यादा 2,919.55 करोड़ की रकम ‘सेफ सिटी प्रोजेक्ट’ के लिये आवंटित की गई है 

Related Stories

जिसका मकसद सार्वजनिक स्थलों पर महिलाओं को सुरक्षा उपलब्ध कराना है। यह परियोजना आठ शहरों- दिल्ली, कोलकाता, मुंबई, चेन्नई, हैदराबाद, बेंगलुरु, अहमदाबाद और लखनऊ में लागू की जा रही है। इसमें कहा गया कि 200 करोड़ की रकम केंद्रीय पीड़ित मुआवजा कोष के लिये जारी की गई है। इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य दुष्कर्म, तेजाब हमले, बच्चों के खिलाफ अपराध और मानव तस्करी आदि के पीड़ितों की सहायता करना है। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि यह सभी योजनाएं केंद्र सरकार के ‘निर्भया फंड’ के तहत संचालित की जा रही हैं।

मंत्रालय ने आकस्मिक प्रतिक्रिया सहायता प्रणाली (ईआरएसएस) के तहत 321.69 करोड़ रुपये मंजूर किये हैं जिसके तहत देश भर में एक आपातकालीन प्रतिक्रिया नंबर-112 उपलब्ध कराया जाएगा। दस्तावेज के मुताबिक यह परियोजना पहले ही देश भर के 20 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में संचालित है। दिल्ली के नानकपुरा में महिलाओं और बच्चों के लिये विशेष इकाई (एसपीयूडब्ल्यूएसी) और पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिये विशेष इकाई (एसपीयूएनईआर) के गठन के लिये कुल 23.53 करोड़ रुपये भी मंजूर किये गए हैं।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment