1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. मेंढक-मेंढकी की शादी कर मांगी थी बारिश की मन्नत, अब परेशान होकर करा रहे तलाक

मेंढक-मेंढकी की शादी कर मांगी थी बारिश की मन्नत, अब परेशान होकर करा रहे तलाक

दो महीने पहले प्रदेश की राजधानी भोपाल में मिट्टी से बनाए मेंढक और मेंढकी की शादी कराई गई थी लेकिन अब प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में हो रही भारी बारिश से परेशान होकर इन दोनों का बाकायदा तलाक कराया गया है।

Anurag Amitabh Anurag Amitabh @@anuragamitabh
Published on: September 13, 2019 16:28 IST
Frog- India TV
Image Source : TWITTER प्रतिकात्मक तस्वीर

भोपाल मध्य प्रदेश में अच्छी बारिश की मन्नत को लेकर करीब दो महीने पहले प्रदेश की राजधानी भोपाल में मिट्टी से बनाए मेंढक और मेंढकी की शादी कराई गई थी लेकिन अब प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में हो रही भारी बारिश से परेशान होकर इन दोनों का बाकायदा तलाक कराया गया है।

वर्षा के देवता माने जाने वाले इंद्र को प्रसन्न करने के लिए यहां इंद्रपुरी इलाके स्थित ‘तुरंत महादेव मंदिर’ में ओम शिव शक्ति मंडल के सदस्यों ने मेंढक-मेंढकी का विवाह करवाया था और अब तलाक भी उन्होंने ही करवाया है। ओम शिव शक्ति मंडल के पदाधिकारी सुरेश अग्रवाल ने शुक्रवार को पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘वर्षा के देवता प्रसन्न हो, प्रदेश में अच्छी बारिश आए इसलिए इस साल जुलाई में मिट्टी का एक मेंढक और एक मेंढकी बना कर उनकी शादी ‘तुरंत महादेव मंदिर’ में कराई थी। शादी के बाद से ही प्रदेश में जमकर बारिश हो रही है। अब लोग इस बारिश से परेशान हो गये हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘कुछ लोगों ने भारी बारिश को रोकने के लिए मेंढक-मेंढकी का तलाक कराने की सलाह दी। जिसके बाद हमने धार्मिक अनुष्ठान और मंत्रोच्चारण के बीच बुधवार को इसी मंदिर में मेंढक-मेंढकी का तलाक करवा दिया। तलाक के बाद पानी में उनका विसर्जन कर दिया है।’’

मौसम विभाग के भोपाल केन्द्र के एक मौसम वैज्ञानिक ने बताया कि प्रदेश में एक जून से 13 सितंबर सुबह तक 1135 मिलीमीटर वर्षा दर्ज हुई है, जो इस अवधि में होने वाली सामान्य बारिश 867 मिलीमीटर से 31 प्रतिशत अधिक है। वहीं, भोपाल जिले में इस दौरान 1605 मिलीमीटर बारिश हुई, जो सामान्य बारिश 888 मिलीमीटर से 81 प्रतिशत अधिक है। वर्षाजनित घटनाओं में मध्य प्रदेश में 15 जून से लेकर अब तक करीब 200 लोगों की मौत हुई है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment