1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. मोदी की सुनामी में जीत दर्ज कर संसद पहुंचे ये चार निर्दलीय ‘सूरमा’

मोदी की सुनामी में जीत दर्ज कर संसद पहुंचे ये चार निर्दलीय ‘सूरमा’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुनामी में जहां एक ओर अच्छे-अच्छे दिग्गज ढेर हो गए, लेकिन इस बार संसद में पहुंचने वाले चार सांसद ऐसे भी हैं जिन्होंने निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ा। आइए आपको बताते हैं इस बार कौन हैं वो चार निर्दलीय सांसद, जिन्होंने इस बार दर्ज की जीत।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: May 26, 2019 16:51 IST
ये चार निर्दलीय जीते...- India TV
ये चार निर्दलीय जीते लोकसभा चुनाव

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम आ चुके हैं। पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए एकबार फिर केंद्र में सरकार बनाने जा रही है। इसबार लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने पिछली बार से भी बेहतर प्रदर्शन करते हुए 303 लोकसभा सीटें जीतीं। यूपी में इसबार भाजपा को रोकने के लिए बना सपा-बसपा और रालोद का गठबंधन भी न सिर्फ बेअसर साबित हुआ, बल्कि गठबंधन के बावजूद सपा को इस बार अपने मजबूत गढ़ गंवाने पड़े।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुनामी में जहां एक ओर अच्छे-अच्छे दिग्गज ढेर हो गए, लेकिन इस बार संसद में पहुंचने वाले चार सांसद ऐसे भी हैं जिन्होंने निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ा। आइए आपको बताते हैं इस बार कौन हैं वो चार निर्दलीय  सांसद, जिन्होंने इस बार दर्ज की जीत।

 नवनीत रवि राणा – अमरावती

navneet

नवनीत रवि

महाराष्ट्र की अमरावती सीट से जीत दर्ज करने वाली नवनीत रवि राणा को कांग्रेस का समर्थन प्राप्त था। उन्होंने इस सीट पर एनडीए गठबंधन की तरफ स चुनाव लड़ रहे शिवसेना प्रत्याशी और मौजूदा सांसद अब्सुल आनंदराव विठोबा को 36 हजार 951 वोटो से हराया। नवनीत को जहां 5 लाख 10 हजार 947 वोट मिले, वहीं दूसरी तरफ अब्सुल आनंदराव विठोबा को 4 लाख 73 हजार 996 वोट ही हासिल कर सके।

सुमनलता अम्बरीश -  मांड्या

Sumalatha Ambareesh

Newly-elected Mandya MP, Sumalatha Ambareesh

कर्नाटक में एक तरफ जहां भाजपा ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को धाराशाई कर दिया, वहीं दूसरी तरफ उसने सूबे की मांड्या सीट पर एक निर्दलीय प्रत्याशी का समर्थन किया। मांड्या जेडीएस ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के बेटे निखिल को उतारा को था, जिनका मुकाबला निर्दलीय महिला उम्मीदवार सुमनलता से था। समुनलता ने इस मुकाबले में जेडीएस प्रत्याशी को 1 लाख 25 हजार 876 वोटों से मात दी। साल 2014 में मांड्या सीट पर जेडीएस ने कब्जा जमाया था।

नबा कुमार सारानिया – कोकराझार

असम की कोकराझार लोकसभा सीट भी देश की उन चार लोकसभा सीटों में से एक है, जहां निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की। कोकराझार में पिछली बार की तरफ इस बार भी निर्दलीय उम्मीदवार नाबा कुमार सरानिया जीते। सरानिया ने एनडीए गठबंधन की तरफ से चुनाव लड़ रहीं बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंड की प्रेमिला रानी ब्रह्मा को 37 हजार 786 वोट से मात दी। इस सीट पर नाबा कुमार को 4 लाख 84 हजार 560 वोट मिले जबकि प्रमिला 4 लाख 46 हजार 774 वोट हासिल कर सकीं।

देलकर मोहनभाई सांजीभाई – दादर और नगर हवेली

केंद्रशासित  दादर और नगर हवेल में निर्दलीय प्रत्याशी देलकर सांजीभाई ने भाजपा प्रत्याशी नत्थूभाई गोमनभाई पटेल को 9001 वोट से मात दी। नत्थूभाई पिछली बार यहां से चुनाव जीते थी, लेकिन इस बार उन्हें 81 हजार 420 वोट मिले जबकि देलकर सांजीभाई 90 हजार 421 वोट पाकर विजेता बने।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
budget-2019