1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. दिल्ली विश्वविद्यालय के पास जमीन होने के बावजूद, छात्र किराए पर कमरा लेने को है मजबूर

दिल्ली विश्वविद्यालय के पास जमीन होने के बावजूद, छात्र किराए पर कमरा लेने को है मजबूर

साउथ कैंपस में कॉलेजो के पास के इलाकों में भी बहुत अधिक किराया वसूला जाता है। अधिकतर वह इलाकें जो कॉलेज कैंपस के पास स्थित होते है उन इलाकों में कमरे का किराया सांतवे आसमान पर होता है।

India TV News Desk India TV News Desk
Updated on: June 16, 2017 13:42 IST
North-Campus- India TV
North-Campus

नई दिल्ली: डीयू में पढ़ने के लिए अधिकतर छात्र बाहर से इसमें दाखिला लेने के लिए आते है। परन्तु यहां आकर उन्हें दाखिले से ज्यादा खाने व रहने जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है। हॉस्टल की फीस अधिक होने के कारण अधिकतर छात्रों को किराए पर कमरा लेना पड़ता है तथा बाहर ही भोजन करना पड़ता है। किराए पर लिए गए इन कमरों का किराया हर साल बढ़ा दिया जाता है। नॉर्थ कैंपस में दाखिला लेने वाले छात्रों को कमला नगर, नेहरू विहार, गांधी विहार, मुखर्जी नगर और विजय नगर सहित अन्य स्थानों में रहना पड़ता है। इन इलाकों में कमरों का किराया बहुत अधिक होता है लेकिन हॉस्टल में जगह ना मिलने के कारण छात्रों को इन्ही किराए के कमरों में रहना पड़ता है। ये भी पढ़ें: DU Admission 2017: नौ कोर्स के लिए स्नातक में आवेदन प्रक्रिया आज से शुरू

साउथ कैंपस में कॉलेजो के पास के इलाकों में भी बहुत अधिक किराया वसूला जाता है। अधिकतर वह इलाकें जो कॉलेज कैंपस के पास स्थित होते है उन इलाकों में कमरे का किराया सांतवे आसमान पर होता है। खबरों के अनुसार यह बताया जा रहा है कि डीयू होस्टल की फीस और भी अधिक बढ़ाई जा सकती है। डीयू के हॉस्टल में केवल 3500 छात्रों की क्षमता है जबकि इसमें प्रतिवर्ष 70 हजार से अधिक छात्र दाखिला लेने आते है।

डीयू के पास 100 एकड़ जमीन खाली पड़े होने के बावजूद अभी तक उस पर हॉस्टल बनाने का कोई प्रस्ताव सामने नहीं आया है। छात्रों के रहने के लिए डीडीए फ्लैट खरीदने का प्रस्ताव दिया गया था जिस पर शिक्षक संगठनों द्वारा विरोध किया गया। यही नहीं डीएस कोठारी होस्टल की फीस परास्नातक के छात्रों के लिए बढ़ाई जा चुकी है। इसके अलावा यदि हम भोजन की बात करें तो कुछ कॉलेज मेस का चार्ज भी बढ़ा सकते है।

ये भी पढ़ें: 500 रुपए में बनवाइए इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस, दुनिया में कहीं भी चलाइए कार

भारत के लिए एससीओ की सदस्यता मिलने के क्या हैं मायने?

आम चुनाव से जुड़ी ताजा खबरों, लोकसभा चुनाव 2019 की खबरों, चुनावों से जुड़े लाइव अपडेट्स और चुनाव परिणामों के लिए https://hindi.indiatvnews.com/elections पर बने रहें। इसके साथ ही हमें फेसबुक और ट्विटर पर लाइक करके या #ElectionsWithIndiaTV हैशटैग का इस्तेमाल करके 543 लोकसभा सीटें और विधानसभा चुनावों से जुड़े ताजा परिणाम पाएं। आप #ResultsWithRajatSharma हैशटैग का इस्तेमाल करके इंडिया टीवी के चेयरमैन एवं एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा के साथ 23 मई को चुनाव परिणामों की पल-पल की जानकारी हासिल कर सकते हैं।
Write a comment
india-tv-counting-day-contest
modi-on-india-tv