1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. संसद में मांगा गया भीड़ द्वारा अल्पसंख्यकों को मारने की घटनाओं का आंकड़ा, सरकार ने दिया ये जवाब

संसद में मांगा गया भीड़ द्वारा अल्पसंख्यकों को मारने की घटनाओं का आंकड़ा, सरकार ने दिया ये जवाब

लोकसभा में मंगलवार को मोहम्मद बदरूद्दोजा खान और मोहम्मद सलीम ने अल्पसंख्यकों को कथित रूप से भीड़ द्वारा मार दिये जाने की घटनाओं से जुड़ा सवाल पूछा ।

Reported by: Bhasha [Published on:13 Mar 2018, 3:02 PM IST]
लोकसभा का दृश्य।- India TV
Image Source : PTI लोकसभा का दृश्य।

नई दिल्ली: लोकसभा में मंगलवार को मोहम्मद बदरूद्दोजा खान और मोहम्मद सलीम ने अल्पसंख्यकों को कथित रूप से भीड़ द्वारा मार दिये जाने की घटनाओं से जुड़ा सवाल पूछा और सरकार ने बताया कि राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो ऐसी घटनाओं के संबंध में विशिष्ट आंकड़े नहीं रखता है। लोकसभा में प्रश्न के लिखित उत्तर में गृह राज्य मंत्री हंसराज गंगाराम अहीर ने कहा, ‘‘ राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो देश में भीड़ द्वारा अल्पसंख्यकों की हत्या की घटनाओं के संबंध में विशिष्ट आंकड़े नहीं रखता है । ’’ 

उन्होंने कहा कि भारत के संविधान की सातवीं अनुसूची के तहत ‘पुलिस और लोक व्यवस्था’ राज्य का विषय है। कानून और व्यवस्था बनाए रखना और जानमाल की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी मुख्यत: राज्य सरकारों की होती है। राज्य सरकारें कानूनों के मौजूदा प्रावधनों के तहत ऐसे अपराधों से निपटने में सक्षम हैं। अहीर ने कहा कि गृह मंत्रालय द्वारा राज्यों एवं संघ राज्य क्षेत्रों को समय समय पर परामर्श पत्र जारी किये जाते हैं। इसमें यह सुनिश्चित करना अपेक्षित है कि कानून को अपने हाथ में लेने वाले व्यक्तियों पर तुरंत कार्रवाई की जाए एवं कानून के अनुसार उन्हें दंडित किया जाए। राज्यों को सलाह दी गई है कि ऐसे व्यक्तियों के प्रति किसी प्रकार की सहानुभूति न बरती जाए और बिना किसी अपवाद के उन पर पूर्ण रूप से कानूनी कार्रवाई की जाए ।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: data about lynchings and mob violence against minorities asked by mp in parliament - संसद में मांगा गया भीड़ द्वारा अल्पसंख्यकों को मारने की घटनाओं का आंकड़ा, सरकार ने दिया ये जवाब
Write a comment