1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. ईद में गले मिलना इस्लाम का नियम नहीं, दारुल उलूम का नया फतवा

ईद में गले मिलना इस्लाम का नियम नहीं, दारुल उलूम का नया फतवा

दरअसल पाकिस्तान के एक शख्स ने दारुल से सवाल पूछा था कि क्या हजरत मोहम्मद साहब के जीवनकाल में किए गए अमल (कार्यों) से यह साबित होता है कि ईद के दिन गले लगना अच्छा है?

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: June 05, 2019 12:55 IST
ईद में गले मिलना इस्लाम का नियम नहीं, दारुल उलूम का नया फतवा- India TV
ईद में गले मिलना इस्लाम का नियम नहीं, दारुल उलूम का नया फतवा

नई दिल्ली: ईद के दिन गले मिलने को इस्लामिक शिक्षण संस्था दारुल उलूम देवबंद ने एक फतवे में बिदअत यानि गलत करार दिया है। दारुल उलूम के फतवे का उलेमा ने भी समर्थन किया है। देवबंद के इस फतवे में कहा गया है कि ईद के त्योहार के दौरान एक-दूसरे से गले मिलना इस्लाम की नजर में अच्छा नहीं है। 

Related Stories

दरअसल पाकिस्तान के एक शख्स ने दारुल से सवाल पूछा था कि क्या हजरत मोहम्मद साहब के जीवनकाल में किए गए अमल (कार्यों) से यह साबित होता है कि ईद के दिन गले लगना अच्छा है?

देवबंद के मुफ्तियों ने इस सवाल के जवाब में दिए फतवे में कहा है कि अगर कोई ऐसा करता है तो उसे विनम्रता के साथ रोक देना चाहिए। हालांकि दारुल के मुफ्तियों ने कहा है कि अगर किसी से बहुत दिनों के बाद मुलाकात हुई हो तो उससे गले मिलने में कोई हर्ज नहीं है।

देवबंदी उलेमा मौलाना कारी साहब गोरा ने भी दारूल उलूम के फतवे का समर्थन किया है और कहा है कि मोहम्मद साहब की जिंदगी से यह कहीं साबित नहीं होता कि खास ईद के दिन गले मिलना चाहिए इसलिए तमाम मुसलमानों को इससे बचना चाहिए।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment