1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. कर्नाटक: बाढ़ के पानी में बहकर आया मगरमच्छ घर की छत पर अटका

कर्नाटक: बाढ़ के पानी में बहकर आया मगरमच्छ घर की छत पर अटका

बाढ़ के पानी के साथ अक्सर सांप और अन्य जंगली जानवर बहकर आ जाते हैं, लेकिन कर्नाटक में एक अलग ही नजारा देखने को मिला।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: August 12, 2019 14:12 IST
A Crocodile lands on roof of a house in flood affected Raybag taluk in Belgaum | ANI- India TV
A Crocodile lands on roof of a house in flood affected Raybag taluk in Belgaum | ANI

बेंगलुरु: बाढ़ के पानी के साथ अक्सर सांप और अन्य जंगली जानवर बहकर आ जाते हैं, लेकिन कर्नाटक में एक अलग ही नजारा देखने को मिला। यहां एक मगरमच्छ बाढ़ के पानी में बहकर आया और एक घर से जा टकराया। इसके बाद वह घर की छत पर बैठ गया। घटना कर्नाटक के बेलगाम में पड़ने वाले बाढ़ प्रभावित क्षेत्र रायबाग तालुक की है। मगरमच्छ को यूं छत पर बैठे देख लोगों में अफरातफरी मच गई। आपको बता दें कि कर्नाटक समेत भारत के कई राज्य इस समय बाढ़ का कहर झेल रहे हैं।

आपको बता दें कि कर्नाटक के बाढ़ प्रभावित जिलों में बचाव एवं राहत अभियान तेजी से चलाया जा रहा है। वहीं बारिश के थोड़ा रुकने से प्रभावित इलाकों में पानी का स्तर कम हुआ है। अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि स्थिति के बेहतर होने के साथ ही लापता लोगों की तलाश और फंसे लोगों को निकालने का काम भी शुरू कर दिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि विभिन्न जलाशयों में पानी का स्तर बढ़ने और वहां से पानी छोड़े जाने के कारण, बांधों के आसपास के क्षेत्रों में सावधानी बरती जा रही है। बाढ़ या भूस्खलन के कारण बाधित हुए मार्गों को साफ करने का काम भी शुरू कर दिया गया है। 


कर्नाटक में 17 जिलों के 80 तालुक बारिश और बाढ़ से प्रभावित हैं। राज्य सरकार ने रविवार शाम मृतक आंकड़ा 40 और लापता लोगों की संख्या 14 बताई थी। रविवार शाम से कुल 5,81,702 फंसे लोगों को निकाला गया है। वहीं 1168 राहत शिविरों में 3,27,354 लोगों ने पनाह ली है। 50,000 से अधिक जानवरों को भी बचाया गया है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी.एस येदियुरप्पा ने रविवार को कहा था कि प्राथमिक आकलन के अनुसार राज्य को बाढ़ से करीब 10,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है और राज्य सरकार ने केन्द्र से तुरंत 3,000 करोड़ रुपये की सहायता राशि देने की मांग की है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment