1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. 'क्रिश्चियन मिशेल के बगल का कैदी है छोटा राजन, कश्मीरी अलगाववादी भी साथ में हैं बंद'

'क्रिश्चियन मिशेल के बगल का कैदी है छोटा राजन, कश्मीरी अलगाववादी भी साथ में हैं बंद'

अदालत कक्ष में मौजूद मिशेल ने अदालत को यह भी बताया कि उसे 16-17 कश्मीरी अलगाववादियों के साथ जेल में रखा गया है। मिशेल ने विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार के समक्ष यह बयान दिया।

Bhasha Bhasha
Published on: March 12, 2019 19:57 IST
Chriestian Michel statement in court- India TV
Chriestian Michel statement in court

नई दिल्ली। अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर मामले में कथित बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल ने मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत में दावा किया कि सीबीआई के पूर्व विशेष निदेशक राकेश अस्थाना ने दुबई में उससे मुलाकात की थी और धमकी दी थी कि अगर वह इस घोटाले में एजेंसी की जांच के अनुरूप नहीं चला तो जेल में उसकी जिंदगी को नरक बना दिया जायेगा। 

मिशेल ने कहा, ‘‘कुछ समय पहले राकेश अस्थाना मुझसे दुबई में मिले थे और उन्होंने धमकी दी थी कि मेरा जीवन नरक बना दिया जाएगा और यही चल रहा है। मेरे बगल वाला कैदी (गैंगस्टर) छोटा राजन है ... मुझे समझ नहीं आ रहा है कि मैंने क्या अपराध किया है कि मुझे उन लोगों के साथ रखा जा रहा है जिन्होंने कई लोगों की हत्याएं की हैं।’’ 

अदालत कक्ष में मौजूद मिशेल ने अदालत को यह भी बताया कि उसे 16-17 कश्मीरी अलगाववादियों के साथ जेल में रखा गया है। मिशेल ने विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार के समक्ष यह बयान दिया। न्यायाधीश ने प्रवर्तन निदेशालय को दिल्ली की तिहाड़ जेल में उससे पूछताछ की अनुमति दी। अदालत ने कहा कि एजेंसी कल और उसके अगले दिन मिशेल से पूछताछ करेगी। 

उसने कहा कि पूछताछ के दौरान जेल का एक अधिकारी मौजूद रहेगा और मिशेल के वकील को भी पूछताछ के दौरान सुबह और शाम में आधे घंटे के लिए सीमित पहुंच की अनुमति है। अदालत ने मिशेल की उस दलील पर भी संज्ञान लिया जिसमें उसने जेल के अंदर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है। अदालत ने तिहाड़ जेल के अधिकारियों को सीसीटीवी फुटेज और उन रिपोर्टों को उपलब्ध कराने को कहा है जिनके आधार पर मिशेल को उच्च सुरक्षा वार्ड में स्थानांतरित किया गया। 

अदालत ने सोमवार को तिहाड़ जेल अधिकारियों को एजेंसी के आवेदन पर जवाब देने का निर्देश दिया था और मिशेल को मंगलवार को पेश करने के लिये पेशी वारंट भी जारी किया था। मिशेल के वकील ने जेल के अंदर उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित करने के आरोप लगाए थे जिस पर अदालत ने पेशी वारंट जारी किया था। दुबई से प्रत्यर्पण के बाद निदेशालय ने उसे पिछले वर्ष 22 दिसम्बर को गिरफ्तार किया था। 

अदालत ने इससे पहले मिशेल को कड़ी सुरक्षा वाली कोठरी में अलग रखे जाने को सही ठहराने में विफल रहने पर अधिकारियों को फटकार लगाई थी और कहा था कि अगर उसे उचित जवाब नहीं मिला तो वह इसकी जांच शुरू करेगी। मिशेल उन तीन कथित बिचौलियों में शामिल है जिनके खिलाफ घोटाले की जांच ईडी और केंद्रीय जांच ब्यूरो कर रहे हैं। अन्य बिचौलियों में गुइदो हाश्के और कार्लो गेरोसा शामिल हैं। 

 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment