1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. अतीक अहमद के घर और दफ्तर पर सीबीआई की छापेमारी

अतीक अहमद के घर और दफ्तर पर सीबीआई की छापेमारी

जेल में बंद अतीक अहमद पर एक व्यवसायी का अपहरण करवाकर देवरिया जेल में पीटने और रंगदारी मांगने का आरोप लगा था। यूपी के जेल में बंद रहने के दौरान उन्हें कई जेलों में शिफ्ट किया गया

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: July 17, 2019 18:05 IST
अतीक अहमद के घर और दफ्तर पर सीबीआई की छापेपारी- India TV
अतीक अहमद के घर और दफ्तर पर सीबीआई की छापेपारी

नई दिल्ली: केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने पूर्व सांसद अतीक अहमद के कई ठिकानों पर छापे मारे हैं। जानकारी के अनुसार, जांच एजेंसी ने अतीक के इलाहाबाद स्थित घर और दफ्तर पर भी छापेमारी की है। जांच अधिकारी फिलहाल जांच पड़ताल में जुटे हैं। देवरिया जेल कांड के बाद कोर्ट ने आदेश जारी किया था, जिसके बाद केंद्रीय जांच एजेंसी ने अतीक के खिलाफ यह कार्रवाई की है।

Related Stories

सीबीआई ने प्रयागराज में दो जगह अतीक अहमद और इसके बेटे मोहम्मद उमर के घर और दफ्तर पर छापेमारी की है। इसके अलावा जकी अहमद (अतीक का साला) के घर पर और एक मोहमद फारूक (अतीक का साथी) के यहां भी छापेमारी हुई।  इसके अलावा लखनऊ में भी दो जगह रेड हुई है। एक सीए नितेश मिश्रा के यहां और दूसरी पवन कुमार सिंह के घर पर। पवन कुमार सिंह, अतीक अहमद के यहां काम करता था।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई ने 12 जून 2019 को 147,149,364a,386,394,411,420,467,468,471,506,120बी के तहत ये केस दर्ज किया था। इससे पहले लखनऊ में ये केस दर्ज हुआ था और जांच शुरू की थी। सीबीआई ने हाल ही में इस केस में अतीक के एक खास गुर्गे जफर उल्लाह के खिलाफ चार्जशीट लखनऊ की सीबीआई कोर्ट में दाखिल की है।

जेल में बंद अतीक अहमद पर एक व्यवसायी का अपहरण करवाकर देवरिया जेल में पीटने और रंगदारी मांगने का आरोप लगा था। यूपी के जेल में बंद रहने के दौरान उन्हें कई जेलों में शिफ्ट किया गया लेकिन लगातार विवादों में रहने के कारण सुप्रीम कोर्ट ने अतीक को गुजरात की जेल शिफ्ट करने का आदेश दिया था। बीते महीने बाहुबली को नैनी जेल से अहमदाबाद की जेल में ले जाया गया था। 

इससे पहले सीबीआई ने एक कारोबारी के अपहरण की कथित रूप से साजिश रचने के मामले में पूर्व सांसद के एक करीबी सहयोगी जफर उल्लाह के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया है। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि सीबीआई दिसंबर 2018 में रियल एस्टेट डीलर मोहित जायसवाल के अपहरण और हमले के आरोपों पर उत्तर प्रदेश से समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद के खिलाफ मामला पहले ही दर्ज कर चुकी है। 

एक अधिकारी ने कहा कि उच्चतम न्यायालय के निर्देश के बाद पिछले महीने मामला दर्ज किया गया। सीबीआई प्राथमिकी में दावा किया गया कि जायसवाल का लखनऊ से अपहरण करके देवरिया जेल ले जाया गया जहां पहले से बंद अहमद और उनके सहयोगियों ने उस पर कथित रूप से हमला किया और उसका कारोबार उन्हें हस्तांतरित करने को मजबूर किया। अहमद 2004 से 2009 तक उत्तर प्रदेश के फूलपुर से 14वीं लोकसभा में सपा सदस्य रहे थे।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
arun-jaitley