1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. बीटिंग द रिट्रीट’ समारोह में भारतीय धुनों का धमाल, गणतंत्र के गौरवशाली समारोह की आखिरी शाम

बीटिंग द रिट्रीट’ समारोह में भारतीय धुनों का धमाल, गणतंत्र के गौरवशाली समारोह की आखिरी शाम

ये समारोह साल 1950 के बाद हर साल 26 जनवरी के तीन दिन बाद यानि 29 जनवरी की शाम को आयोजित किया जाता रहा है...

Written by: IndiaTV Hindi Desk [Updated:29 Jan 2018, 6:40 PM IST]
beating retreat ceremony- India TV
beating retreat ceremony

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी के विजय चौक पर आज आयोजित हुए ‘बीटिंग रिट्रीट’ समारोह में भारतीय धुनें आकर्षण का प्रमुख केंद्र थी। इस साल बीटिंग द रिट्रीट समारोह में भारतीय धुनों पर ख़ास ज़ोर दिया गया है। तीनों सेनाओं और CRPF की ओर से समारोह में 26 परफॉर्मेंस दी गई। साथ ही सारे जहां से अच्छा की धुन के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया। ये समारोह साल 1950 के बाद हर साल 26 जनवरी के तीन दिन बाद यानि 29 जनवरी की शाम को आयोजित किया जाता रहा है जिसमें तीनों सेना के बैंड अपनी धुनों को प्रदर्शित करते हैं। हालांकि CRPF, CISF और दिल्ली पुलिस के भी बैंड ने इसबार समारोह में शिरकत की।

कहा जाता है कि इस दिन युद्ध के बाद भारतीय वीर सेना वापस अपने बैरक में लौटी थी तभी से देश गणतंत्र दिवस के बाद इस समारोह को हर साल मनाता है।

इस बार क्या है खास?

आर्मी, नेवी, एयरफोर्स और पैरामिलिट्री के बैंड शामिल, 18 मिलिट्री बैंड, 15 पाइप और ड्रम रिट्रीट में शामिल

CRPF, CISF और दिल्ली पुलिस का भी बैंड, बीटिंग द रिट्रीट में 25 धुनें भारतीय संगीतकारों की

सारे जहां से अच्छा धुन के साथ समारोह का समापन

68 साल की परंपरा

1950 से शुरू हुई बीटिंग रिट्रीट की परंपरा, समारोह के साथ सेना बैरक में वापस लौटती है

गणतंत्र दिवस के 3 दिन बाद होता से समारोह, 2001 और 2009 में समारोह नहीं हुआ

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: बीटिंग द रिट्रीट’ समारोह में भारतीय धुनों का धमाल, गणतंत्र के गौरवशाली समारोह की आखिरी शाम
Write a comment
the-accidental-pm-300x100