1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. कांग्रेस ने वोट के लिए दिया 'हिंदू आतंकवाद' का नारा, जानबूझकर लटकाया केस: अरुण जेटली

कांग्रेस ने वोट के लिए दिया 'हिंदू आतंकवाद' का नारा, जानबूझकर लटकाया केस: अरुण जेटली

समझौता ब्लास्ट मामले में असीमानंद को अदालत द्वारा बरी किए जाने के बाद अब बीजेपी मुखर हो गई है। आज अरुण जेटली ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि हिंदू आतंकवाद शब्द सिर्फ वोटों के लिए दिया गया था।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: March 29, 2019 13:04 IST
Arun Jaitley - India TV
Arun Jaitley 

समझौता ब्‍लास्‍ट मामले में असीमानंद को अदालत द्वारा बरी किए जाने के बाद अब बीजेपी मुखर हो गई है। आज अरुण जेटली ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि हिंदू आतंकवाद शब्‍द सिर्फ वोटों के लिए दिया गया था। उन्‍होंने आरोप लगाया कि इस मामले की जांच 2009 में पूरी होने के बाद भी कांग्रेस ने इस मामले को लटका कर रखा। 

अरुण जेटली की प्रेस कॉन्‍‍फ्रेंस की प्रमुख बातेें

  • राजनीतिक लाभ के लिए हिंदू समाज को कलंकित किया। समाज ये जानता है। पूरे हिंदू समाज से काग्रेस माफी मांगे। शायद इसलिए कांग्रेस की तरफ से कोई बयान नहीं आया। 
  • हिन्दुओ को आतंकी बनाने की जो कोशिश हूई उसके लिए कौन जिम्मेदार है निश्चित रूप से यूपीए और कांग्रेस जिम्मेदार है और इसके लिए माफ नही करेगी जनता। 
  • तत्कालीन गृह सचिव आर के सिंह के भगवा आतंकवाद के बयान  पर जेटली ने कहा ब्यूरोक्रेसी नहीं ये राजनीतिक नेतृत्व का फैसला होता है।
  • राजनीतिक लाभ के लिए हिंदू समाज को कलंकित किया। समाज ये जानता है, पूरे हिंदू समाज से काग्रेस माफी मांगे। 
  • सारी तहतीकात 2007-08-09 में हुई। दस दस साल से आरोपी जेल में रखे। चार्जशीट फाईल की। पर जज ने कहा कि सबूत नहीं है। 
  • यह पूरी तरह बिना सबूत का केस है। 
  • कांग्रेस ने हिदू धर्म को कलंकित करने के लिए ऐसा किया। इसकी जिम्मेदारी यूपीए और कांग्रेस नेतृत्व की है। समाज इनको माफ नहीं करेगा।
  • 2007 के बाद स्पस्ट था कि अमेरिका का स्टेट डिपार्टमेंट बार बार सूचना दे रहा था कि कौन आतंकी है।
  • उस पर तहकीकात करने की बजाय हिन्दू आतंकवाद के नारे  को पूरा करने के लिए फर्जी सबूत के आधार पर कहानी बनाई थी।
  • शायद इसी का परिणाम है कि हिन्दू को आतंकी मानने वाले अब हिन्दू धर्म मे श्रद्धा दिख रहे है। 
India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment