1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Amritsar train accident: पंजाब में रावण दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आकर 61 लोगों की मौत

Amritsar train accident: पंजाब में रावण दहन के दौरान ट्रेन की चपेट में आकर 61 लोगों की मौत

Amritsar train accident: पंजाब के अमृतसर में शुक्रवार की शाम एक भीषण हादसा हो गया। रावण दहन देख रहे लोग तेज रफ्तार ट्रेन की चपेट में आ गए, जिससे कम से कम 61 लोगों की मौत हो गई

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: October 20, 2018 6:40 IST
Amritsar train accident updates- India TV
Amritsar train accident updates

Amritsar train accident: पंजाब के अमृतसर में शुक्रवार की शाम एक भीषण हादसा हो गया। रावण दहन देख रहे लोग तेज रफ्तार ट्रेन की चपेट में आ गए, जिससे कम से कम 61 लोगों की मौत हो गई और 51 अन्य घायल हो गए। घायलों में कई की हालत गंभीर है। इस घटना से स्थानीय लोगों में आक्रोश है और त्योहार के दिन देशभर में लोग गमगीन हैं। 61 शव बरामद करने की पुष्टि हो गई है और करीब 51 से ज्यादा घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  हादसे के बाद पंजाब में राजकीय शोक का ऐलान किया गया है। कल दफ्तर और स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे​।

अमृतसर के जोड़ा फाटक इलाके में रेलवे ट्रैक के नजदीक रावण का पुतला जलाया जा रहा था। जैसे ही पुतले में पटाखे का विस्फोट होना शुरू हुआ और आग की लपटें तेज हुईं, लोग पीछे खिसकते हुए रेल पटरी पर चले गए। कुछ लोग रावण दहन देखने के लिए पहले से ही रेल पटरी पर खड़े थे। उसी दौरान जालंधर से अमृतसर जा रही ट्रेन तेज रफ्तार से आई और बड़ी तादाद में लोगों को अपनी चपेट में लेते हुए गुजर गई। ट्रेन को वहां से गुजरने में महज 10 से 15 सेकेंड लगे, ट्रेन के गुजरते ही क्षत-विक्षत शव दूर-दूर तक बिखर गए और घायलों की चीख-पुकार मच गई। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने घटना पर शोक व्यक्त किया है।

बताया जाता है कि रावण दहन के दौरान पटाखे की गूंज की वजह से लोग ट्रेन की सीटी की आवाज नहीं सुन सके। रावण के जलने के दौरान आग की लपटें तेज होने की वजह से लोग दशहरा स्थल से रेल पटरी पर जाकर नजारा देखने लगे। 

एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि आग की लपटें तेज होने के बाद लोग रेल पटरी की ओर इस भय से खिसकने लगे कि पुतला उनके ऊपर न आ गिड़े। यह भी जा रहा है कि इसी दौरान वहां भगदड़ मची और उसी दौरान ट्रेन आ गई। इससे पहले की लोग कुछ समझते ट्रेन बुरी तरह लोगों को कुचलते हुए निकल गई। एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि इससे पहले कि लोग कुछ समझ पाते, ट्रेन लोगों को कुचलते हुए निकल गई। उसने कहा कि दुर्घटना में कम से कम 100 लोगों की मौत हुई होगी। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि मृतकों में बच्चे भी शामिल हैं। घटनास्थल पर करीब 700 लोग जमा थे। 

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अमृतसर रेल हादसे पर दुख जताया और कहा कि जरूरी कदम उठाए जाते तो हादसे को रोका जा सकता था। केंद्र की एजेंसियां हरसंभव मदद कर रही हैं। 

पंजाब के मुख्यमंत्री ने इस घटना पर दुख जताते हुए मुआवजे का ऐलान किया है।  मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने मारे गए लोगों को मुआवजे के तौर पर 5-5 लाख रुपए देने की घोषणा की है। कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने घायलों के पंजाब के सरकारी और निजी अस्पतालों में फ्री ईलाज की घोषणा भी की है। 

पंजाब के नगर निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने बेंगलुरू में एक समाचार चैनल से कहा कि मृतकों की संख्या बहुत अधिक हो सकती है। सिद्धू इस इलाके के विधायक हैं। उनकी पत्नी नवजोत कौर दुर्घटना स्थल पर आयोजित दशहरा उत्सव की मुख्य अतिथि थीं। दुर्घटना शाम 7 बजे हुई।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment