1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. दिल्ली के एम्स में लगी आग पर काबू पाया गया, वायरोलॉजी यूनिट खाक, सारे सैंपल्स बर्बाद

दिल्ली के एम्स में लगी आग पर काबू पाया गया, वायरोलॉजी यूनिट खाक, सारे सैंपल्स बर्बाद

शनिवार को देश के प्रतिष्ठित अस्पताल और मेडिकल कॉलेज एम्स की टीचिंग ब्लॉक में लगी आग पर काबू पा लिया गया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: August 18, 2019 0:12 IST
Delhi AIIMS Fire- India TV
Delhi AIIMS Fire

नई दिल्ली: देश के प्रतिष्ठित अस्पताल और मेडिकल कॉलेज एम्स की टीचिंग ब्लॉक में लगी आग पर काफी मशक्कत के बाद शनिवार देर रात काबू पा लिया गया। आग से किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। शाम पांच बजे लगी इस आग पर एक से डेढ़ घंटे के अंदर ही काबू पा लिया गया था लेकिन रात 9 बजे के करीब एक बार फिर यह आग भड़क उठी थी जिस पर काफी मुश्किलों के बाद काबू पाया जा सका।  खबर लिखे जाने तक कूलिंग प्रॉसेस जारी थी। आग टीचिंग बिल्डिंग की पहली और दूसरी फ्लोर पर लगी थी। देर रात यह पांचवीं फ्लोर तक पहुंच गई थी। दमकल की  40 गाड़ियों ने आग पर काबू पाने के लिए काफी मशक्कत की।  एनडीआरएफ की दो टीमों को मरीजों को शिफ्ट करने और रेस्क्यू के काम में लगाया गया था। टीचिंग बिल्डिंग में आग लगते ही पूरे ब्लॉक को खाली करा लिया गया था। 

म्स प्रशासन की तरफ से हेल्पलाइन नंबर- 011-26593308 जारी किया गया है। इस हेल्पलाइन नंबर से शिफ्ट किये गए मरीजों की जानकारी मिल सकेगी। आपको बता दें कि इस अस्पताल में रोजाना हजारों की तदाद में मरीज इलाज के लिए पहुंचते हैं। 

बताया जाता है कि  सबसे पहले आग चपेट में टीचिंग ब्लॉक की पहली और दूसरी मंजिल आई थी। आग लगते ही पूरे एम्स परिसर से धुएं का गुबार उठने लगा। आग लगते ही पूरे परिसर की बिजली काट दी गई। मौके पर मौजूद इंडिया टीवी संवाददाता ने बताया कि फिलहाल इमरजेंसी लैब को बंद कर दिया गया है। 

अधिकारियों ने बताया कि आग की वजह से नमूने और मेडिकल जांच रिपोर्ट बर्बाद हो गए तथा कुछ मरीजों को बाहर निकालना पड़ा हालांकि कोई भी घायल नहीं हुआ है। उन्होंने बताया कि एबी वार्ड के कुछ तलों से मरीजों को तथा धुएं का गुबार ऊपर ऑपरेशन थियेटर की तरफ बढ़ने की वजह से वहां से भी मरीजों को बाहर निकाला गया। यह वार्ड माइक्रोबायोलॉजी विभाग से सटा हुआ है जहां शाम करीब पांच बजे आग की लपटें उठनी शुरू हुई। 

दिल्ली अग्निशमन सेवा के एक अधिकारी ने बताया कि फोन पर सूचना मिलने के बाद दमकल की 22 गाड़ियों को मौके पर भेजा गया। सूत्रों ने बताया कि दूसरे तल पर स्थित टीचिंग ब्लॉक के माइक्रोबायोलॉजी विभाग की वायरोलॉजी यूनिट पूरी तरह खाक हो गई। पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली कार्डियो न्यूरो केंद्र के आईसीयू में भर्ती हैं जो परिसर की एक अलग इमारत में स्थित है। कई प्रमुख नेता उनकी सेहत के बारे में जानने के लिए पिछले कुछ दिनों से अस्पताल आ रहे हैं। 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया, “मैं हर किसी से शांति बनाए रखने और दमकल कर्मियों को उनका काम करने देने की अपील करता हूं।” अग्निशमन विभाग के अधिकारी ने बताया कि आग में कोई हताहत नहीं हुआ है। इस प्रतिष्ठित अस्पताल के प्रभावित भवन के ऊपर धुएं का काला गुबार उठता देखा गया। सूत्रों ने कहा कि आग लैब मेडिसिन विभाग के इमरजेंसी लैब तक फैल गई थी जो माइक्रोलॉजी विभाग की वायरोलॉजी यूनिट के ठीक बगल में है जहां पिछले कुछ समय से बिजली का काम चल रहा था और केबल एवं तार वहां रखी हुईं थी। उन्होंने बताया कि आग पहले तल पर नीचे की तरफ फैलने के साथ ही इमारत के दूसरे एवं तीसरे तल पर ऊपर की तरफ भी फैल गई।  (इनपुट-भाषा)

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment