1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. छात्र संघ की NRC से बांग्लादेशियों के नाम हटाने की मांग

छात्र संघ की NRC से बांग्लादेशियों के नाम हटाने की मांग

अखिल असम छात्र संघ (एएएसयू) ने बुधवार को राज्य सरकार से राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) से बांग्लादेशियों के नाम हटाने के लिए तत्काल कदम उठाने की मांग की।

Edited by: IndiaTV Hindi Desk [Published on:07 Dec 2018, 10:48 PM IST]
NRC Draft- India TV
NRC Draft

गुवाहाटी: अखिल असम छात्र संघ (एएएसयू) ने बुधवार को राज्य सरकार से राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) से बांग्लादेशियों के नाम हटाने के लिए तत्काल कदम उठाने की मांग की। एएएसयू सलाहकार समुज्जल भट्टाचार्य ने यहां संवाददाताओं से कहा कि सर्बानंद सोनोवाल नीत सरकार को इसके लिए अपनी ओर से सत्यापन अभियान चलाना चाहिए क्योंकि उसके पास ऐसा करने की शक्ति है।

20वीं सदी की शुरुआत से बांग्लादेश के लोगों का असम में प्रवेश जारी है और यह एकमात्र ऐसा राज्य है जिसके पास राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) है। एनआरसी पहली बार 1951 में तैयार किया गया था। उच्चतम न्यायालय की निगरानी में इसे अद्यतन किया जा रहा है। एनआरसी का पूर्ण मसौदा 30 जुलाई को प्रकाशित किया गया था और इसमें कुल 3.29 करोड़ प्राप्त आवेदनों में से 2.9 करोड़ लोगों के नाम शामिल किए गए। मसौदे से 40 लाख लोगों का नाम बाहर रखने को लेकर बड़ा विवाद पैदा हो गया था।

भट्टाचार्य ने कहा, “बांग्लादेशियों का नाम एनआरसी में शामिल हो चुका है और सरकार को उन्हें हटाना चाहिए और त्रुटि मुक्त एनआरसी राज्य के लोगों को दी जानी चाहिए।” उन्होंने कहा कि सरकार आपत्तियां दर्ज कराने का बोझ विभिन्न संस्थानों पर डालने की बजाए खुद से पुष्टि करने के बाद विदेशियों के नाम हटा सकती है। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर सरकार इस पर कदम नहीं उठाती है तो एएएसयू अदालत का रुख करेगा।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: छात्र संघ की NRC से बांग्लादेशियों के नाम हटाने की मांग
Write a comment