1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. महिला के शरीर से निकली 12 हजार पथरियां

महिला के शरीर से निकली 12 हजार पथरियां, बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

नई दिल्ली: पथरी की बिमारी के बारे में तो आपने जरूर सुना होगा। इस बिमारी का इलाज संभव है लेकिन अगर कोई आपको कहे कि एक महिला के शरीर से लगभग 12 हजार पथरियां निकाली

India TV News Desk [Published on:28 Nov 2015, 2:20 PM IST]
महिला के शरीर से निकली...- India TV
महिला के शरीर से निकली 12 हजार पथरियां

नई दिल्ली: पथरी की बिमारी के बारे में तो आपने जरूर सुना होगा। इस बिमारी का इलाज संभव है लेकिन अगर कोई आपको कहे कि एक महिला के शरीर से लगभग 12 हजार पथरियां निकाली गई है तो आप बिल्कुल यकीन नहीं करेंगे। आपका पहला सवाल ही होगा कि ऐसा कैसे हो सकता है शरीर में इतनी सारी पथरी होने के बाद भी कोई इंसान जिंदा कैसे रह सकता है । आज हम आपको एक महिला के बारे में बताने जा रहें है जिन्होंने इस क्षेत्र में वर्लड रिकॉर्ड बनाया है। मिनाती मॉन्डल कोलकाता की रहने वाली है। उनकी उम्र 51 साल है। मिनाती पिछले 2 महीनों से पेट दर्द की समस्या से परेशान थी। दर्द अधिक बढ़ने पर उन्हें कोलकाता के देबदूत अस्पताल में ले जाया गया।

अस्पताल में उनके डॉक्टरों ने कईं टेस्ट किए टेस्ट से पता चला कि उनके पित्ताशय में बहुत सारी छोटी छोटी पथरियां है। तथा पथरियों की संख्या इतनी ज्यादा थी कि वह नाशपाती के आकार की हो गई थी। देबदूत अस्पताल के डॉक्टर माखन लाल ने उनकी सर्जरी की थी। उनकी यह सर्जरी काफी समय तक चली और उनके शरीर से 12 हजार पथरियां निकाली गई। इनका आकार 2mm से 5mm था। इन पथरियों को जांच के लिए लंदन भेज दिया गया है। जहां पर इनकी जांच की जाएगी। किसी महिला के शरीर से 12 हजार पथरियां निकलनी अपने आप में ही रिकॉर्ड तोड़ने के समान है।

क्या है पथरी होने का कारण?

पथरी बनने का कारण कैल्शियम की जमावट, मूत्राशय की नलिका में रूकावट आदि हैं। इसका संबंध हाइपर पैराथायरॉइडिजम से भी होता है। यह अंतस्त्रवी ग्रंथियों से जुडी एक विकृति है जिसकी वजह से पेशाब में कैल्शियम की मात्रा बढ जाती है। यदि यह कैल्शियम पेशाब के साथ बाहर निकल जाए तो बेहतर है वर्ना यह गुर्दे की कोशिकाओं में एकत्र होता रहता है और पथरी का रूप ले लेता है। उन्होंने बताया पेशाब में कैल्शियम की अधिकता हाइपरकैल्सियूरिया कहलाती है। यह समस्या अत्यधिक कैल्शियम वाले आहार के सेवन से होती है। कैल्शियम ऑग्जेलेट या फॉस्फेट के कण अत्यधिक मात्रा में हों तो वह पेशाब के जरिये पूरी तरह नहीं निकल पाते और एक जगह एकत्र होने लगते हैं। यही कारण पथरी का रूप ले लेते हैं।

शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ रवि मलिक ने बताया पथरी बच्चों को भी होती है। अनुवांशिकी भी पथरी के 60 फीसदी मामलों का एक कारण होती है। अगर परिवार में किसी को सिस्टीन्यूरिया या प्रायमरी हाइपरोक्सैल्यूरिया हो तो पथरी होने की आशंका बढ जाती है। ऎसे बच्चों को पेशाब में अमीनो अम्ल, सिस्टीन या ऑग्जेलेट की अधिकता के कारण पथरी हो सकती है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: महिला के शरीर से निकली 12 हजार पथरियां, बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड
Write a comment