Good News
  1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. गुड न्यूज़
  5. Good News: 15 लाख स्कूली बच्चों को मुफ्त में बढ़िया खाना खिलाता है यह NGO

Good News: 15 लाख स्कूली बच्चों को मुफ्त में बढ़िया खाना खिलाता है यह NGO

आजादी के 70 साल होने को हैं लेकिन आज भी देश में बड़ी संख्या में ऐसे बच्चे हैं जिन्हें भर पेट खाना नहीं मिल पाता। इस समय देश में करीब 12 करोड़ बच्चे सरकारी स्कूलों में पढ़ते हैं इनमें से लाखों बच्चे गरीब परिवारों से आते हैं। कई बार इन बच्चों को भूखे प

IndiaTV Hindi Desk [Updated:06 Apr 2017, 6:36 PM IST]
akshaya patra foundation- India TV
akshaya patra foundation

नई दिल्ली: आजादी के 70 साल होने को हैं लेकिन आज भी देश में बड़ी संख्या में ऐसे बच्चे हैं जिन्हें भर पेट खाना नहीं मिल पाता। इस समय देश में करीब 12 करोड़ बच्चे सरकारी स्कूलों में पढ़ते हैं इनमें से लाखों बच्चे गरीब परिवारों से आते हैं। कई बार इन बच्चों को भूखे पेट ही स्कूल आना पड़ता है ऐसे बच्चों की मदद के लिए एक एनजीओ ने पहल की है। ये एनजीओ ISCKON से जुड़ा है, नाम है अक्षय पात्र फाउंडेशन।

(देश-विदेश की बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें)

ये फाउंडेशन देश भर के 15 लाख बच्चों को हर रोज दोपहर का खाना खिलाती है, ये खाना मुफ्त होता है। सबसे बड़ी बात ये है कि इनका खाना अच्छी क्वालिटी का और बेहद हाईजीनिक होता है। इनके खाने से इंप्रेस हो कर कुछ राज्यों की सरकारों ने इन्हें स्कूलों में मिड डे मील प्रोवाइड करने की जिम्मेदारी भी दे दी है।

'सुबह 4 बजे से 250 से ज्यादा कर्मचारी खाना बनाने में जुटते हैं'

इस एनजीओ की तारीफ सुनकर इंडिया टीवी रिपोर्टर विशाल लखनऊ मे अक्षयपात्र फाउंडेशन पहुंचे। विशाल ने वहां खाना बनाने और खाने की पैकिंग की व्यवस्था देखी। यहां सुबह चार बजे से 250 से ज्यादा कर्मचारी खाना बनाने में जुटते हैं। सबसे अच्छी बात ये है कि यहां फूड आइटम्स को धोने, काटने और खाना पकाने तक के लिए बड़ी बड़ी ऑटोमैटिक मशीनों लगी हैं। रॉ मटीरियल को धोने के लिए RO पानी का इस्तेमाल किया जाता है।

ये भी पढ़ें

किचन में जाने के लिए कर्मचारियों को हाथ में ग्लब्स, चेहरे पर मास्क, सिर के लिए स्पेशल कैप और पांव में स्पेशल बूट पहनना जरूरी होता है। पैकिंग के वक्त भी इस बात का पूरा ध्यान रखा जाता है कि उसे हाथ से छुआ न जाए यानि यहां किसी तरह से कंटैमिनेशन का खतरा नहीं रहता है। यहां से खाना अक्षयपात्र की गाड़ियों में रख कर अलग-अलग स्कूलों के लिए भेजा जाता है।

बिल क्लिंटन कर चुके हैं इस संस्था की तारीफ

अक्षयपात्र फाउंडेशन की शुरुआत 1997 में हुई थी। शुरुआत 5000 स्कूली बच्चों को खाना खिलाने से हुई और आज देश के पंद्रह लाख बच्चों को अक्षयपात्र फाउंडेशन अच्छी क्वालिटी का खाना खिलाता है। अक्षयपात्र फाउंडेशन के चेयरमैन एम. पी. दास ने बताया कि उनके संस्था की तारीफ अमेरिका पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन तक कर चुके हैं। बिल क्लिंटन उनकी संस्था देखने आए थे, उन्होंने इनका किचन देखा था औऱ पूरा डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम देखा था और वो इनके क्वालिटी कंट्रोल से बेहद इंप्रेस हुए थे।

देखिए वीडियो-

इंडिया टीवी रिपोर्टर विशाल को इन स्कूलों से एक अच्छी बात पता चली। कुछ स्कूल के प्रिंसिपल ने उन्हें बताया कि जब से अक्षय पात्र उनके स्कूल में खाना पहुंचा रहा है, बच्चों की उपस्थिति बढ़ गयी है। कई बच्चे इतने गरीब परिवारों के होते हैं कि उन्हें घर में पौष्टिक खाना नहीं मिल पाता, जब से इस संस्था ने बच्चों के लिए खाना पहुंचाना शुरू किया है, तब से बेहद गरीब परिवारों के बच्चों ने भी स्कूल आना शुरू कर दिया है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Good News News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: Good News: देश के 15 लाख बच्चों को हर रोज मुफ्त खाना खिलाता है ‘अक्षय पात्र फाउंडेशन’
Write a comment