1. You Are At:
  2. होम
  3. गैलरी
  4. इनक्रेडिबल इंडिय
  5. Amazing india : भारत की वो 11 खास जगह जहां एक बार आप जरूर जाना पसंद करेंगे

Amazing india : भारत की वो 11 खास जगह जहां एक बार आप जरूर जाना पसंद करेंगे

India TV Photo Desk [Published on: 12 Aug 2016, 5:53 PM IST]
  •  कंचनजंघा विश्व की तीसरी सबसे ऊँची पर्वत चोटी है, यह सिक्किम के उत्तर-पश्चिम भाग में नेपाल की सीमा पर है।इसकी ऊंचाई 8,586 मीटर है।
    1/11

    कंचनजंघा विश्व की तीसरी सबसे ऊँची पर्वत चोटी है, यह सिक्किम के उत्तर-पश्चिम भाग में नेपाल की सीमा पर है।इसकी ऊंचाई 8,586 मीटर है।

  • भारत के ज्ञान-विज्ञान की चमक का प्रतीक नालंदा विश्वविद्यालय जो बिहार में स्थित है। नालंदा विश्वविद्यालय में 821 साल बाद आज एक बार फिर पढ़ाई शुरू हो गई। अभी यहां इतिहास और पार्यावरण विज्ञान पढ़ाया जाएगा, लेकिन भविष्य में यहां कुल सात विषयों में उच्च अध्ययन होगा। फिलहाल यहां 15 छात्रों को प्रवेश दिया गया है जबकि एक हजार छात्रों ने आवेदन किया था।
    2/11

    भारत के ज्ञान-विज्ञान की चमक का प्रतीक नालंदा विश्वविद्यालय जो बिहार में स्थित है। नालंदा विश्वविद्यालय में 821 साल बाद आज एक बार फिर पढ़ाई शुरू हो गई। अभी यहां इतिहास और पार्यावरण विज्ञान पढ़ाया जाएगा, लेकिन भविष्य में यहां कुल सात विषयों में उच्च अध्ययन होगा। फिलहाल यहां 15 छात्रों को प्रवेश दिया गया है जबकि एक हजार छात्रों ने आवेदन किया था।

  • पुराना किला : नई दिल्ली में यमुना नदी के किनारे स्थित प्राचीन दीना-पनाह नगर का आंतरिक किला है। इस किले का निर्माण शेरशाह सूरी ने अपने शासन काल में 1538 से 1545 के बीच करवाया था। किले के तीन बड़े द्वार हैं तथा इसकी विशाल दीवारें हैं। इसके अंदर एक मस्जिद है जिसमें दो तलीय अष्टभुजी स्तंभ है।
    3/11

    पुराना किला : नई दिल्ली में यमुना नदी के किनारे स्थित प्राचीन दीना-पनाह नगर का आंतरिक किला है। इस किले का निर्माण शेरशाह सूरी ने अपने शासन काल में 1538 से 1545 के बीच करवाया था। किले के तीन बड़े द्वार हैं तथा इसकी विशाल दीवारें हैं। इसके अंदर एक मस्जिद है जिसमें दो तलीय अष्टभुजी स्तंभ है।

  • नन्दा देवी : पर्वत भारत की दूसरी एवं विश्व की 23वीं सर्वोच्च चोटी है। इससे ऊंची व देश में सर्वोच्च चोटी कंचनजंघा है। नन्दा देवी शिखर हिमालय पर्वत श्रृंखला में भारत के उत्तरांचल राज्य में पूर्व में गौरीगंगा तथा पश्चिम में ऋषिगंगा घाटियों के बीच स्थित है। इसकी ऊंचाई 7816 मीटर है।
    4/11

    नन्दा देवी : पर्वत भारत की दूसरी एवं विश्व की 23वीं सर्वोच्च चोटी है। इससे ऊंची व देश में सर्वोच्च चोटी कंचनजंघा है। नन्दा देवी शिखर हिमालय पर्वत श्रृंखला में भारत के उत्तरांचल राज्य में पूर्व में गौरीगंगा तथा पश्चिम में ऋषिगंगा घाटियों के बीच स्थित है। इसकी ऊंचाई 7816 मीटर है।

  •  जुब्बल उपत्यका (देउरा घाटी) : भारत में हिमाचल प्रदेश के शिमला जनपद का शांत, एकांत एवं मनमोहक हिमालयी भूदृश्य है। यह देउरा घाटी, जुब्बल घाटी या बिशकल्टी घाटी के नाम से भी जानी जाती है। यहां बनाड़ देवता का प्रसिध्द मंदिर है।
    5/11

    जुब्बल उपत्यका (देउरा घाटी) : भारत में हिमाचल प्रदेश के शिमला जनपद का शांत, एकांत एवं मनमोहक हिमालयी भूदृश्य है। यह देउरा घाटी, जुब्बल घाटी या बिशकल्टी घाटी के नाम से भी जानी जाती है। यहां बनाड़ देवता का प्रसिध्द मंदिर है।

  • अजंता गुफाएं : महाराष्ट्र, भारत में स्थित पाषाण कट स्थापत्य गुफाएं हैं। यह स्थल द्वितीय शताब्दी ई.पू. के हैं। यहां बौद्ध धर्म से सम्बंधित चित्रण एवं शिल्पकारी के उत्कृष्ट नमूने मिलते हैं।
    6/11

    अजंता गुफाएं : महाराष्ट्र, भारत में स्थित पाषाण कट स्थापत्य गुफाएं हैं। यह स्थल द्वितीय शताब्दी ई.पू. के हैं। यहां बौद्ध धर्म से सम्बंधित चित्रण एवं शिल्पकारी के उत्कृष्ट नमूने मिलते हैं।

  •  आगरा का किला : यह विश्‍व धरोहर स्‍थल में से एक है जो कि भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा शहर में स्थित है। इसे लाल किला भी कहा जाता है।
    7/11

    आगरा का किला : यह विश्‍व धरोहर स्‍थल में से एक है जो कि भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा शहर में स्थित है। इसे लाल किला भी कहा जाता है।

  • खजुराहो: भारत के मध्य प्रदेश प्रांत में स्थित एक प्रमुख शहर है जो अपने प्राचीन एवं मध्यकालीन मंदिरों के लिये विश्वविख्यात है। यह मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित है। खजुराहो को प्राचीन काल में खजूरपुरा और खजूर वाहिका के नाम से भी जाना जाता था। यहां बहुत बड़ी संख्या में प्राचीन हिन्दू और जैन मंदिर हैं।
    8/11

    खजुराहो: भारत के मध्य प्रदेश प्रांत में स्थित एक प्रमुख शहर है जो अपने प्राचीन एवं मध्यकालीन मंदिरों के लिये विश्वविख्यात है। यह मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित है। खजुराहो को प्राचीन काल में खजूरपुरा और खजूर वाहिका के नाम से भी जाना जाता था। यहां बहुत बड़ी संख्या में प्राचीन हिन्दू और जैन मंदिर हैं।

  • कोणार्क सूर्य मंदिर: भारत के उड़ीसा राज्य के पुरी जिले में स्थित है। इसे लाल बलुआ पत्थर एवं काले ग्रेनाइट पत्थर से 1236 – 1264 ई.पू. में गंग वंश के राजा नृसिंहदेव द्वारा बनवाया गया था। यह मंदिर, भारत की सबसे प्रसिद्ध स्थलों में से एक है।
    9/11

    कोणार्क सूर्य मंदिर: भारत के उड़ीसा राज्य के पुरी जिले में स्थित है। इसे लाल बलुआ पत्थर एवं काले ग्रेनाइट पत्थर से 1236 – 1264 ई.पू. में गंग वंश के राजा नृसिंहदेव द्वारा बनवाया गया था। यह मंदिर, भारत की सबसे प्रसिद्ध स्थलों में से एक है।

  • रानी की वाव : भारत के गुजरात राज्य के पाटण में स्थित प्रसिद्ध बावड़ी (सीढ़ीदार कुआँ) है। 22 जून 2014 को इसे यूनेस्को के विश्व विरासत स्थल में शामिल किया गया।
    10/11

    रानी की वाव : भारत के गुजरात राज्य के पाटण में स्थित प्रसिद्ध बावड़ी (सीढ़ीदार कुआँ) है। 22 जून 2014 को इसे यूनेस्को के विश्व विरासत स्थल में शामिल किया गया।

  • फतेहपुर सीकरी: यह भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित है,। फतेहपुर सीकरी हिंदू और मुस्लिम वास्‍तुशिल्‍प के मिश्रण का सबसे अच्‍छा उदाहरण है। फतेहपुर सीकरी मस्जिद के बारे में कहा जाता है कि यह मक्‍का की मस्जिद की नकल है और इसके डिजाइन हिंदू और पारसी वास्‍तुशिल्‍प से लिए गए हैं।
    11/11

    फतेहपुर सीकरी: यह भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित है,। फतेहपुर सीकरी हिंदू और मुस्लिम वास्‍तुशिल्‍प के मिश्रण का सबसे अच्‍छा उदाहरण है। फतेहपुर सीकरी मस्जिद के बारे में कहा जाता है कि यह मक्‍का की मस्जिद की नकल है और इसके डिजाइन हिंदू और पारसी वास्‍तुशिल्‍प से लिए गए हैं।

Next Photo Gallery

एक ऐसा मस्जिद जहां रोजा खोलने के लिए पढ़ा जाता है गायत्री मंत्र

Next Photo Gallery