Zero Movie Review: सपनों की दुनिया में लेकर जाती है शाहरुख खान और आनंद एल रॉय की फिल्म 'ज़ीरो'

Zero Movie Review in Hindi: जीरो हिंदी मूवी रिव्यु और रेटिंग, बौने बनकर छा गए शाहरुख, एंट्री पर हॉल में बजीं तेज से सीटियां, दर्शकों द्वारा बहुत ज्यादा की जा रही पसंद हिंदी मूवी, at India TV

India TV Entertainment Desk [Updated:21 Dec 2018, 1:55 PM IST]
zero movie review

zero movie review

  • फिल्म रिव्यू: ZERO
  • स्टार रेटिंग: 3.5 / 5
  • पर्दे पर: 21 दिसंबर 2018
  • डायरेक्टर: आनंद एल रॉय
  • शैली: ड्रामा-फैंटसी

Zero Movie Review: शाहरुख खान जब एंट्री लेता है तो आपको सीटियाँ बजाने का मन करता है, जब वो लड़कियों से रोमांटिक अन्दाज़ में फ़्लर्ट करता है, और दिलीप कुमार के डायलॉग बोलकर लड़की को इम्प्रेस करने की कोशिश करता है तो ऐसा लगता है अपना शाहरुख खान लौट आया है...  जिसके डिम्पल पर हम लड़कियां मरती हैं।

आनंद एल राय और हिमांशु शर्मा इससे पहले 'रांझना' और 'तनु वेड्ज़ मनु', 'तनु वेड्ज़ मनु रिटर्न' फ़िल्म बना चुके हैं, एक बार फिर दोनों ने मिलकर ज़ीरो फिल्म बनाई है, जिसमें शाहरूख खान बऊवा सिंह के किरदार में हैं।

कहानी- फिल्म शुरू होती है और आप निराश नहीं होते हैं... डिम्पल वाले शाहरुख़, बाहें फैलाते हैं और रोमांटिक डायलॉग बोलते हैं तो हमारी उम्मीदें खूब बढ़ जाती हैं, इंटरवल के पहले तक शाहरुख खान आपको 90s के दौर में लेकर जाएंगे और वही शाहरुख आपको याद आएंगे जो रोमांस करता है, प्यार करता है और सपनों की दुनिया में लेकर जाता है।

 बउआ सिंह बने शाहरुख के कैरेक्टर में अच्छाई यह है कि उसके अंदर ख़ुद को लेकर कोई हीन भावना नहीं है, वो फ़ुल स्टाइल और ऐटिट्यूड में रहता है और वो ख़ुद को किसी हीरो से कम नहीं समझता है। उसका कॉन्फिडेन्स ही था जो उसे बॉलीवुड सुपस्टार बबीता कुमारी (कटरीना कैफ़) के घर तक लेकर जाता है।

इस फिल्म में बउआ सिंह का किरदार आपका दिल जीत लेगा,शाहरूख खान जबरदस्त वापसी करते दिख रहे हैं, बबीता कुमारी के रोल में कटरीना कैफ छा गयी हैं, ये कटरीना के करियर की अब तक की बेस्ट फिल्म कही जा सकती है, एक चमचमाते चेहरे के पीछे कितने गम हो सकते हैं ये कटरीना आपको साफ-साफ दिखा पाईं हैं। जीशान आयुब ने भी मेरठ के लड़के का रोल बेहतरीन तरीके से निभाया है। अनुष्का ने अपने किरदार के लिए मेहनत तो की है लेकिन वो खास प्रभाव नहीं छोड़ पाती हैं। मगर फिर भी अनुष्का की रोल उनकी बाकि फिल्मों से काफी अलग है।

फ़िल्म के कुछ सीन आपको बिल्कुल फैंटसी की दुनिया में लेकर जाएंगे- जैसे बउआ अपने हाथों से ऐसा जादू करता है कि तारे टूट जाते हैं। 

डायरेक्शन- फिल्म का निर्देशन आनंद एल रॉय ने किया है जिसने हमारी उम्मीदें काफी बढ़ा दी थी, फर्स्ट हाफ में वो हमारी उम्मीदों को पूरी करते भी नजर आते हैं, लेकिन सेकंड हाफ शायद कुछ दर्शकों को अच्छा ना लगे। 

अगर आप शाहरुख खान के फैन हैं तो यह फिल्म आपको वैसे भी नहीं मिस करनी चाहिए, कटरीना के लिए भी आप यह फिल्म देख सकते हैं।

स्टार रेटिंग-  3.5 स्टार

फिल्म ZERO का रिव्यू इंग्लिश में भी पढ़ें।

इसे भी पढ़ें-

डिस्काउंट के साथ बुक करं जीरो की टिकट

Zero Movie: बातें जो शाहरुख खान की फिल्म 'जीरो' को खास बनाती हैं 

जीरो से जुड़ी हर जानकारी यहां मिलेगी

the-accidental-pm-300x100