राजी फिल्म रिव्यू 4/5: देशभक्ति के रंग में डूबी आलिया भट्ट की फिल्म देखने जा रहे हैं तो पढ़े ये रिव्यू

Raazi Movie Review: आलिया भट्ट और विक्की कौशल के अभिनय से सजी फिल्म 'राजी' आज सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। फिल्म देखने जा रहे हैं तो पहले पढ़े ये रिव्यू।

Jyoti Jaiswal [Updated:07 Sep 2018, 1:13 PM IST]
Raazi

Raazi

  • फिल्म रिव्यू: राजी
  • स्टार रेटिंग: 4 / 5
  • पर्दे पर: May 11, 2018
  • डायरेक्टर: मेघना गुलजार
  • शैली: थ्रिलर फिल्म

बॉलीवुड फिल्मकार मेघना गुलजार के निर्देशन में बनी और अभिनेत्री आलिया भट्ट के अभिनय से सजी फिल्म 'राजी' आज सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। कुछ वक्त पहले जारी किए गए फिल्म के ट्रेलर के बाद से ही दर्शकों में इसे लेकर काफी उत्सुकता देखने को मिल रही थी। 'तलवार', 'फिलहाल' और 'जस्ट मैरिड' जैसी फिल्में देने वालीं डायरेक्टर मेघना गुलजार इस बार देशभक्ति के रंग में डूबी एक दिलचस्प कहानी को लेकर पेश हुई हैं। बता दें कि यह फिल्म हरिंदर सिक्का की नॉवेल 'कॉलिंग सहमत' पर आधारित है, जो एक भारतीय जासूस की असल जिंदगी पर लिखी गई है।

कहानी:-

फिल्म की कहानी वर्ष 1971 के दौरान भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे युद्ध के समय की है। फिल्म की शुरुआत होती है जब पाकिस्तान भारत को तबाह करने की योजनाएं बना रहा होता है। लेकिन तभी इसकी भनक भारत में रहने वाले हिदायत खान (रजित कपूर) को लग जाती है। उनका अक्सर अपने काम के सिलसिले में भारत से पाकिस्तान तक आना जाना लगा रहता है। हिदायत खान भारत की सुरक्षा के लिए खुफिया जानकारी लाने का काम करता है। हिदायत और उनकी पत्नी बेगम तेजी (सोनी राजदान) की एक बेटी है- सहमत (आलिया भट्ट), जो अभी दिल्ली में पढ़ाई कर रही हैं। हिदायत और पाकिस्तान के आर्मी ब्रिगेडियर परवेज सैय्यद (शिशिर शर्मा) की अच्छी दोस्ती है। ऐसे में हिदायत अपनी लाडली बेटी सहमत के लिए उनके बेटे इकबाल (विक्की कौशल) का हाथ मांगते हैं, जो पाकिस्तान आर्मी में एक अच्छे पद पर ऑफिसर हैं। दरअसल हिदायत, सहमत को हिन्दुस्तानी जासूस के रूप में पाकिस्तान भेजना चाहते हैं। वहीं दूसरी ओर सहमत को जब इस बारे में जानकारी दी जाती है तो वह देश भी रक्षा के लिए तुरंत हांमी भर देती है। इसके बाद रॉ एजेंट खालिद मीर (जयदीप अहलावत) एक सीधी साधी लड़की सहमत को भारतीय जासूस के रूप में तैयार करते हैं। अब फिल्म में यह देखना यह देखना बेहद दिलचस्प है कि कैसे एक लड़की अपने हर अरमान को मारकर सिर्फ देश की सेवा के लिए पूरी तरह से खुद को समर्पित कर देती है। सहमत के पाकिस्तान पहुंचने के बाद  फिल्म के हर सीन में आप यह देखने के लिए बेसब्र रहेंगे कि आगे क्या होने वाला है। फिल्म का क्लाइमेक्स में आप एक मिनट के लिए अपनी नजरें स्क्रीन से नहीं हटा पाएंगे। वहीं फिल्म के डायलॉग्स और कुछ सीन्स ऐसे हैं जो आपकी आंखें नम कर देंगे।

अभिनय:-

फिल्म में आलिया के अभिनय को देखकर कहा जा सकता है कि उनकी एक्टिंग हर फिल्म में और भी बेहतर होती जा रही हैं। साथ ही दर्शकों की उम्मीदें भी लगातार उनसे बढ़ती जा रही है। यह कहना गलत नहीं होगा पूरी फिल्म को आलिया अपने कंधों पर उठाए चल रही हैं। इस फिल्म में आप उनकी खूबसूरती के साथ-साथ उनकी एक्टिंग पर भी फिदा हो जाएंगे। एक आर्मी अधिकारी के किरदार में विक्की कौशल ने शानदार काम किया है। वहीं रॉ एजेंट के किरदार में जयदीप अहलावत को देख आप उनकी तारीफ करने को मजबूर हो जाएंगें। इनके अलावा शिशिर शर्मा, रजित कपूर और सोनी राजदान ने भी अपनी किरदारों के साथ इंसाफ किया है।

निर्देशन:-

मेघना गुलजार ने फिल्म और सभी किरदारों पर अच्छी पकड़ बनाए रखी है। उन्होंने हर सीन को दमदार ढंग से पर्दे पर पेश किया है कि आप शुरु से अंत तक खुद को फिल्म से जोड़े रखेंगे। कुल मिलाकर कहा जाए तो मेघना के निर्देशन में कहीं भी कोई कमी नजर नहीं आई। फिल्म के गानों की बात करें तो यह पहले ही दर्शकों के बीच खूब वाह वाही लूट रहे हैं।

क्यों देखें:-

मेघना गुलजार के बेहतरीन निर्देशन में आलिया का जबरदस्त काम काबिल-ए-तारीफ है। वहीं देशभक्ति के रंग में रंगी इस फिल्म की कहानी आपके दिल को छू जाएगी। हालांकि अगर आप कोई कॉमेडी-मसाला फिल्म देखने के शौकीन हैं तो यह फिल्म आपको थोड़ी स्लो जरूर लग सकती है। लेकिन दर्शक इस वीकेंड अपने परिवार या दोस्तों के साथ इस फिल्म को देखने के लिए सिनेमाघरों का रुख कर सकते हैं।