Manmarziyaan Movie Review: लव ट्रायंगल में चमके विकी कौशल और तापसी पन्नू

प्यार में आप खूब दीवाने हुए होगें। आपने अपने मन की भी खूब की होगी। इश्क़ के आगे शायद ही आपको कभी कुछ दिखा दिया हो। ऐसी ही एक मनमर्जी में अनुराग कश्यप ने एक फिल्म बनाईं। जिसे उन्होंने 'मनमर्जियां' नाम दिया। कैसी है ये फ़िल्म आइए जानते हैं।

Jyoti Jaiswal [Updated:14 Sep 2018, 11:58 AM IST]
Manmarziyaan

Manmarziyaan

  • फिल्म रिव्यू: मनमर्जियां
  • स्टार रेटिंग: 3 / 5
  • पर्दे पर: 14 सितंबर 2018
  • डायरेक्टर: अनुराग कश्यप
  • शैली: कॉमेडी-ड्रामा

Manmarziyaan Movie Review: प्यार में आप खूब दीवाने हुए होगें। आपने अपने मन की भी खूब की होगी। इश्क़ के आगे शायद ही आपको कभी कुछ दिखा दिया हो। ऐसी ही  मनमर्जी पर अनुराग कश्यप ने एक फिल्म बनाई है, जिसे उन्होंने 'मनमर्जियां' नाम दिया। इस फिल्म में अभिषेक बच्चन, तापसी पन्नू और विक्की कौशल ने कुछ अलग ही अंदाज में नज़र आ रहे हैं। कैसी है ये फ़िल्म आइए जानते हैं।

‘मनमर्जियाँ’ कहानी एक लड़की रूमी (तापसी पन्नू) की, जिसकी लाइफ में एक लड़का है विकी संधु(विकी कौशल), जो एक DJ है। दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं, लेकिन कुछ कारणों से रूमी की शादी रॉबी (अभिषेक बच्चन ) से हो जाती है। आगे इस प्रेम त्रिकोण का क्या होगा, शादी के बाद इन तीनों की ज़िंदगी में क्या हलचल आती है इसके लिए तो आपको यह फ़िल्म देखनी होगी।

तापसी पन्नू ने शानदार ऐक्टिंग की है, वो अपने किरदार में पूरी तरह घुस गयी हैं। पहली बार तापसी ने लव स्टोरी की है, और उन्होंने साबित कर दिया है कि वो हर रोल में फ़िट और हिट हैं। अभिषेक बच्चन ने बेहतरीन कमबैक किया है, अपने रोल में वो जंचे हैं। विकी कौशल, ये लड़का नहीं जादू है, हर बार एक बिलकुल अलग तरह का किरदार लेकिन हर किरदार के बाद अपनी छाप छोड़ना विकी की आदत बन चुकी है।

manmarziyan

अनुराग कश्यप ने जो पहली बार एक बिलकुल अलग तरह की लव स्टोरी बनाई है, और कामयाब हुए हैं वो इसमें।  इस फ़िल्म की कमी ये है कि ये बहुत लम्बी है, दूसरा हाफ़ आते आते आप सोचने लगते हैं, कुछ नया कब होगा। फ़िल्म को एडिटिंग की ज़रूरत थी। इसके अलावा फ़िल्म का अंत बहुत प्रिडिक्टिबल था और साधारण भी। फ़िल्म जितनी मज़बूती के साथ शुरू होती है ख़त्म होते होते फ़िल्म ढीली पड़ जाती है।

इस फिल्म में कहीं-कहीं 'हम दिल दे चुके सनम' वाली बात भी नजर आएगी, जैसे तापसी अभिषेक से कहती है- ''आप बचपन से ही राम जी टाइप हो।'' या 'हर कोई देवता क्यों बन रहा है..., सबको प्यार में कुर्बानी देनी है।'' ऐसा ही डायलॉग ऐश्वर्या ने बोला था अजय देवगन से- ''भगवान बनने की कोशिश मत करो।''

इस फिल्म का म्यूजिक अच्छा है, कई गाने काफी अच्छे लगते हैं, लेकिन इस फिल्म में 15 गाने हैं, जिसमें से 10 गाने सिर्फ बैकग्राउंड में ही चलते हैं, लेकिन फिर भी बार-बार आते गाने आपको थोड़ा परेशान कर सकते हैं।

देखें या नहीं? अगर आप रोमांटिक फ़िल्में पसंद करते हैं, या प्यार में आपका दिल टूटा है तो ये फ़िल्म आपको पसंद आएगी। अगर आपकी एक्स ने किसी और से शादी कर ली है तो ये फ़िल्म आपके लिए ही बनी है। यह फ़िल्म अपने लाइफ़ पार्ट्नर और दोस्तों के साथ देखी जा सकती है। इस फ़िल्म को मैं 5 में से 3 स्टार दूँगी।