1. You Are At:
  2. होम
  3. सिनेमा
  4. बॉलीवुड
  5. Vande Mataram 2019: सोशल मीडिया पर लोग जंग की बात करते हैं, लेकिन आर्मी में कोई जाना नहीं चाहता- सोनू निगम

Vande Mataram 2019: सोशल मीडिया पर लोग जंग की बात करते हैं, लेकिन आर्मी में कोई जाना नहीं चाहता- सोनू निगम

पुलवामा हमले के बाद सोशल मीडिया पर कई लोग कहने लगे कि भारत को अब पाकिस्तान के साथ जंग करना चाहिए। इस बारे में सिंगर सोनू निगम का कहना है कि लोग जंग की बातें तो करते हैं, लेकिन आर्मी में कोई जाना नहीं चाहता।

Written by: India TV Entertainment Desk [Updated:16 Mar 2019, 8:53 PM IST]
Sonu Nigam- India TV
Sonu Nigam

पुलवामा हमले के बाद सोशल मीडिया पर कई लोग कहने लगे कि भारत को अब पाकिस्तान के साथ जंग करना चाहिए। इस बारे में सिंगर सोनू निगम का कहना है कि लोग जंग की बातें तो करते हैं, लेकिन आर्मी में कोई जाना नहीं चाहता। उन्होंने कहा कि लोगों को पता नहीं कि लड़ाई क्या होती है। उन्हें समझ नहीं आता कि ये लंबी भी चल सकती है। ज़रूरी नहीं कि जंग सीमा पर ही हो। यह हमारे पास भी आ सकती है। जंग होगी तो चीजों के दाम बढेंगे। तब भी लोग कहेंगे कि सरकार ने दाम बढ़ा दिए। लड़ाई आसान नहीं होती।

सोनू ने ये बातें इंडिया टीवी के कॉन्क्लेव वंदे मातरम् में बोली। इसके अलावा उन्होंने पाकिस्तानी कलाकारों के बैन, अभिव्यक्ति की आज़ादी सहित कई मुद्दों पर बात की। वंदे मातरम् कॉन्क्लेव का मुद्दा आतंकवाद था। इसमें पियूष गोयल, रविशंकर प्रसाद, जनरल वीके सिंह, जनरल जी डी बख्शी सहित कई लोगों ने हिस्सा लिया।

पाकिस्तानी कलाकारों के बैन पर बोले सोनू

''पाकिस्तानी कलाकारों को बैन करने से समस्या का हल नहीं निकलेगा। पहले आप उन्हें बुलाते हैं, फिर कहते हैं आप चले जाओ। हम बच्चों की तरह अपना फैसला क्यों बदलते हैं? हमारा देश अपनी सदियों पुरानी सभ्यता, संस्कृति के कारण फेमस है। यहां इतनी छोटी बातें होनी ही नहीं चाहिए। हमें थोड़ा मैच्योर होना चाहिए।''

उन्होंने आगे कहा- ''अगर आप समझदार हैं तो आप पाकिस्तान के साथ सारे सांस्कृतिक आदान-प्रदान बंद कर देंगे। आपको हर बार ये बातें करने की ज़रूरत नहीं है। हमें पाकिस्तानी कलाकारों को बैन करने के लिए फिल्म इंडस्ट्री को बोलना नहीं चाहिए। यह उनकी ज़िम्मेदारी है कि वह पाकिस्तान के साथ ये बंद कर दें।''

Sonu Nigam

Sonu Nigam

जाति के आधार पर वोट क्यों दिया जाता है

सोनू का कहना है कि लोगों को जाति, धर्म के आधार पर नेताओं को वोट नहीं देना चाहिए। उन्होंने कहा- ''हम राजनीतिज्ञों के परफॉर्मेंस के आधार पर वोट क्यों नहीं देते हैं? हमें देश में शांति लाने की बात करनी चाहिए। हमें समुदायों का बंटवारा करा कर उनके बीच लड़ाई करवाने वाली मानसिकता को बदलनी चाहिए।''

''जब देश विषम परिस्थितियों से गुज़र रहा है, तब किसी को सवाल नहीं उठाना चाहिए। हमें एक सुर में होना पड़ेगा। गाना तभी बनता है, जब सब एक सुर में होते हैं। हमें भारत के शानदार इतिहास को देखना चाहिए और धर्म के नाम पर लड़ाई नहीं करनी चाहिए।''

कोई इंसान अपने मज़हब की वजह से बड़ा नहीं होता

सोनू ने कहा- ''कलाकार होने से पहले मैं एक इंसान हूं, भारत का नागरिक हूं। कोई इंसान अपनी मज़हब की वजह से बड़ा नही होता। कोई देश बड़ा तभी होता है, जब उसका नागरिक अच्छा बर्ताव करते हैं।''

Sonu Nigam

Sonu Nigam

फ्रीडम ऑफ स्पीच के नाम पर कुछ भी नहीं बोल सकते

सोनू ने कहा कि फ्रीडम ऑफ स्पीच का मतलब यह नहीं है कि आप कुछ भी बोल सकते हैं। आप कैसे बोल सकते हैं कि भारत तेरे टुकड़े होंगे। यह सब बोलने का हक किसी को नहीं है।

Also Read:

Vande Mataram 2019: कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर शर्मनाक बयान

Arun Jaitley at Vande Mataram: अब सरकार में आतंक के खिलाफ फैसले लेने की ताकत, हमने पुरानी नीति को बदल दिया

 

इंडिया टीवी 'फ्री टू एयर' न्यूज चैनल है, चैनल देखने के लिए आपको पैसे नहीं देने होंगे, यदि आप इसे मुफ्त में नहीं देख पा रहे हैं तो अपने सर्विस प्रोवाइडर से संपर्क करें।
Web Title: Sonu Nigam on Vande Mataram people talk about war but nobody wants to go in army
Write a comment
ipl-2019