1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. सिनेमा
  4. बॉलीवुड
  5. असली ‘पैडमैन’ ने बताया किस तरह पुरुषों से जुड़ी है माहवारी

असली ‘पैडमैन’ ने बताया किस तरह पुरुषों से जुड़ी है माहवारी

अभिनेता अक्षय कुमार की फिल्म 'पैडमैन' नौ फरवरी को दर्शकों के सामने होगी।

India TV Entertainment Desk India TV Entertainment Desk
Published on: February 07, 2018 9:02 IST
पैडमैन- India TV
Image Source : PTI पैडमैन

नई दिल्ली: महिलाओं की माहवारी और उससे जुड़ी स्वच्छता व मिथकों पर खुलकर बात करने के लिए प्रेरित करती अभिनेता अक्षय कुमार की फिल्म 'पैडमैन' नौ फरवरी को दर्शकों के सामने होगी। फिल्म की रिलीज से पहले इन दिनों सोशल मीडिया पर 'पैडमैन चैंलेज' लॉन्च किया गया है, जिसे बॉलीवुड के बड़े-बड़े सितारों ने स्वीकार किया है, हालांकि इस चैलेंज का आइडिया अक्षय, निर्माता ट्विंकल खन्ना या फिर निर्देशक आर.बाल्की का नहीं, बल्कि असल जिंदगी के पैडमैन अरुणाचलम मुरुगनाथम का है।

असली पैडमैन का उद्देश्य लोगों को यह बताना था कि माहवारी केवल महिलाओं से जुड़ी चीज नहीं, बल्कि इससे पुरुष भी जुड़े हुए हैं। 'पैडमैन चैलेंज' के लॉन्च होने के बाद से इसे आमिर खान, करण जौहर, अर्जुन कपूर, माधुरी दीक्षित, अदिति राव हैदरी, दीपिका पादुकोण, सोनम कपूर, हुमा कुरैशी, दीया मिर्जा सहित कई बॉलीवुड हस्तियों ने स्वीकार किया और अपने हाथों में पैड लेकर तस्वीर खिंचवाई और सोशल मीडिया पर उसे साझा किया। खुद मुरुगनाथम ने भी यह चैलेंज लेकर सैनिटरी नैपकिन के साथ तस्वीर खिंचवाई।

इस चैंलेज के बारे में खुद मुरुगनाथम ने आईएएनएस को बताया, "मैं अन्य लोगों के बीच माहवारी से जुड़ी स्वच्छता जागरूकता फैलाना चाहता था और चाहता था कि इस विषय पर लोगों की झिझक दूर हो। इस चैलेंज के जरिए हम यह बताने का प्रयास कर रहे हैं कि माहवारी कोई शर्म की बात नहीं है, बल्कि यह शरीर की सामान्य प्रक्रिया है।" बेहद कम पढ़-लिखे होने के बावजूद अरुणाचलम आईआईएम-अहमदाबाद, आईआईएम-बेंगलुरू, आईआईटी-मुंबई और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी सहित कई प्रतिष्ठित संस्थानों में व्याख्यान दे चुके हैं। मुरुगनाथम को टाइम मैगजीन ने 2014 में विश्व के सबसे 100 प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया था और 2016 में उन्हें देश के सर्वोच्च पुरस्कारों में से एक पद्मश्री से सम्मानित किया गया।

माहवारी पर शायद ही कभी किसी पुरुष को बात करते सुना गया हो, यहां तक कि खुद महिलाएं भी इस पर बात करने से कतराती हैं। ऐसे में सार्वजनिक मंच पर बात करने के बावत अपने विचार के बारे में मुरुगनाथम ने कहा, "मुझे लगता है कि हर पिता, हर बेटे, हर भाई और हर पुरुष को माहवारी के बारे में पता होना चाहिए और उन्हें इससे जुड़ी स्वच्छता की भी जानकारी होनी चाहिए। माहवारी केवल महिलाओं से नहीं, बल्कि पुरुषों से भी संबंधित है और इस पर जोर देने के लिए हमने इस चैलेंज की शुरुआत की।"

तमिलनाडु के कोयंबटूर में एक गरीब परिवार में जन्मे अरुणाचलम मुरुगनाथम ने अपने घर से माहवारी को लेकर स्वच्छता जागरूकता फैलाने की कोशिश की, लेकिन पत्नी और मां सहित घर किसी सदस्य ने उनकी बात नहीं सुनी। यहां तक कि उनकी पत्नी उन्हें छोड़कर चली गईं, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और अपने लक्ष्य को पूरा करने में जुटे रहे। अक्षय कुमार की पत्नी ट्विंकल ने उनके संघर्षो से प्रेरित होकर फिल्म 'पैडमैन' बनाई है।

क्या असल जिंदगी के पैडमैन ने कभी सोचा था कि उन पर कोई फिल्म भी बनेगी? इस सवाल पर मुरुगनाथम ने कहा, "कभी नहीं..मैंने ऐसा कभी नहीं सोचा था। चूंकि यह एक ऐसा विषय है जिस पर जहां भी मैं जाकर बात करता था, लोग मुझे पीटने लगते थे। कौन सोचेगा कि इस पर कोई फिल्म बना सकता है। मैं इस पर बात तक करने से डरता था और मैं जब बात करता था तो अपने दोनों गालों को अपने दोनों हाथों से छुपा लेता था। इसलिए यह बहुत बड़ी बात है कि इस विषय पर फिल्म बनी है।"

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Bollywood News in Hindi के लिए क्लिक करें सिनेमा सेक्‍शन
Write a comment