1. You Are At:
  2. होम
  3. सिनेमा
  4. बॉलीवुड
  5. आनंद कुमार की कहानी 2 घंटे में दिखा पाना संभव नहीं: विकास बहल

आनंद कुमार की कहानी 2 घंटे में दिखा पाना संभव नहीं: विकास बहल

 भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने के लिए चर्चित संस्थान 'सुपर 30' के संस्थापक आनंद कुमार पर बायोपिक बना रहे फिल्म निर्देशक विकास बहल का मानना है कि आनंद के संघर्ष की कहानी इतनी प्रेरणादायक है कि इसे 2 घंटे की फिल्म में दिखा पाना संभव नहीं है।

Written by: India TV Entertainment Desk [Published on:16 Aug 2018, 4:05 PM IST]
ऋतिक रोशन- India TV
ऋतिक रोशन

पटना: भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने के लिए चर्चित संस्थान 'सुपर 30' के संस्थापक आनंद कुमार पर बायोपिक बना रहे फिल्म निर्देशक विकास बहल का मानना है कि आनंद के संघर्ष की कहानी इतनी प्रेरणादायक है कि इसे 2 घंटे की फिल्म में दिखा पाना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि दर्शकों को एक आम आदमी की शक्तिशाली कहानी देखना पसंद है, जो जुनून और ईमानदारी से असाधारण बन जाता है।

विकास बहल ने कहा, "बायोपिक में निर्धन तथा वंचित वर्गो के बच्चों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने की कहानी कही गई है। आनंद कुमार के कारण लोगों के जीवन में शिक्षा के कारण महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं और यही विषय फिल्म में सबसे प्रेरणादायक है।"

इस बायोपिक में मुख्य भूमिका निभा रहे ऋतिक रोशन के बारे में बहल का कहना है कि बॉलीवुड स्टार ऋतिक रोशन ने आनंद की कहानी में शक्तिशाली 'कंटेंट' को देखा। विकास ने हाल के एक आलेख में कहा कि इस बायोपिक के माध्यम से आनंद कुमार से प्रभावित होकर अधिक से अधिक लोग उनके प्रयास का अनुकरण करने की कोशिश करेंगे।

बहल का कहना है, "मैने विभिन पहलुओं पर आनंद कुमार के साथ कई सत्र किए हैं, जिससे बायोपिक में आनंद के जीवन का निचोड़ दिखाया जा सके। मैंने सुपर 30 के छात्रों से मुलाकात की है और यह एक अच्छा अनुभव रहा है।"

सुपर 30 निर्धन परिवार से आने वाले बच्चों को आईआईटी की तैयारी कराने के लिए चर्चित है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Bollywood News in Hindi के लिए क्लिक करें सिनेमा सेक्‍शन
Web Title: आनंद कुमार की कहानी 2 घंटे में दिखा पाना संभव नहीं: विकास बहल it is impossible to show anand kumar whole life in 2 hour film
Write a comment