1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. सिनेमा
  4. बॉलीवुड
  5. Aap Ki Adalat: लोगों के दिलों में जगह बनाना चाहते थे धर्मेंद्र, नम्बर 1 बनने की नहीं थी चाहत

Aap Ki Adalat: लोगों के दिलों में जगह बनाना चाहते थे धर्मेंद्र, नम्बर 1 बनने की नहीं थी चाहत

सुपरस्टार धर्मेंद्र ने 55 साल में करीब 300 फिल्में की हैं। देव आनंद, राज कपूर, दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन जैसे एक से एक स्टार आए, लेकिन धर्मेंद्र की जगह कायम है। हालांकि धर्मेंद्र ने कभी नम्बर 1 बनने की कोशिश नहीं की। इसपर धर्मेंद्र का कहना है कि उन्हें बस लोगों के दिलों में बसना था। उन्हें पैसों और शोहरत से लगाव नहीं।

Swati Pandey Swati Pandey
Published on: August 12, 2018 13:23 IST
Dharmendra- India TV
Dharmendra

नई दिल्ली: सुपरस्टार धर्मेंद्र ने 55 साल में करीब 300 फिल्में की हैं। देव आनंद, राज कपूर, दिलीप कुमार, अमिताभ बच्चन जैसे एक से एक स्टार आए, लेकिन धर्मेंद्र की जगह कायम है। हालांकि धर्मेंद्र ने कभी नम्बर 1 बनने की कोशिश नहीं की। इसपर धर्मेंद्र का कहना है कि उन्हें बस लोगों के दिलों में बसना था। उन्हें पैसों और शोहरत से लगाव नहीं।

इंडिया टीवी के शो 'आप की अदालत' में धर्मेंद्र अपनी आने वाली फिल्म 'यमला पगला दीवाना: फिर से' के प्रमोशन के लिए पहुंचे थे। वहां उन्होंने चैनल के एडिटर-इन-चीफ और शो के होस्ट रजत शर्मा से इंटरव्यू में कहा- ''मैंने कभी यह नहीं सोचा कि मुझे यह मिल जाए, वह मिल जाए। मैंने लोगों की तरह अपने पैसे नहीं बढ़ाए। मैंने मार्केटिंग नहीं की। मुझे यह आती नहीं। मुझे यही था कि मैं किसी तरह से लोगों के दिल में बस जाऊं, लोग मुझे प्यार करें। मुझे पैसे और शोहरत की लालसा नहीं थी। शोहरत तो नशा है- चढ़ता है, उतर भी जाता है, लेकिन मोहबब्त एक ऐसा जज्बा है, जो दिलों में घर कर जाता है।''

राजनीति पर बोले धर्मेंद्र:

''मैंने अपने ख्वाब में भी कभी नहीं सोचा था कि मैं राजनीति में आऊंगा। मैं कुछ भाइयों से मिला तो मैंने उनसे कहा कि वहां अच्छे लोग कम होते हैं। उन्होंने कहा कि अच्छे लोग आएंगे नहीं तो अच्छा कैसे होगा। तब मैं सोचने लगा कि अब तो मैं सब ठीक कर दूंगा। मगर ये जज्बाती लोगों का काम नहीं है। यहां मोटी चमड़ी होनी जरूरी है। यह 5 साल मेरे लिए मुश्किल था। इन 5 सालों में मैंने बीकानेर के लिए जो किया है, वो मुझे ही पता है, लेकिन मुझे कभी इसका श्रेय नहीं मिला। काम मैं करता था और पत्थर कोई और अपने नाम का लगवा जाते थे। मैंने कहा लगा रहने दो पत्थर, उसपर मिट्टी पड़ेगी।''

खुद करते थे स्टंट:
''शोले में घोड़े के स्टंट खुद किए। सीन में एक घोड़े से दूसरे आदमी पर जंप किया, उसे लेकर नीचे गिरा फिर वापस घोड़े पर सवार हुआ। घोड़े के पैर वो नीचे गिरे हुए आदमी पर जा रहे थे। तब मैंने घोड़े को जोर से खींचा। सौभाग्यवश वो घोड़ा दूसरी तरफ गिरा और मैं दूसरी तरफ।''

फिल्म 'मेरा गांव मेरा देश' के एक शॉट का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा- ''सीन में घोड़ा मुझे एक ठिकाने पर आकर पटक देता है। यह शॉट मैंने खुद किया था। यह सब करने में मुझे मजा आता था। दिलेर था, गांव का था। तालाब में छलांग लगाता था। घरवाले कपड़े सूंघ कर पता लगा लेते थे कौन से तालाब से आया हूं।''

धर्मेंद्र ने एक फिल्म में चीते से भी खुद लड़ाई की थी। इस पर उन्होंने कहा- ''दरअसल, डुप्लीकेट थक जाता था। मैंने उससे कहा- तू हट पीछे, क्या ऐसे-ऐसे कर रहा है।''

Also Read: Aap Ki Adalat: धर्मेंद्र ने बताया क्यों छोड़ी थी 'जंजीर', जिसने बनाया था अमिताभ बच्चन को सुपरस्टार

Also Read: Aap Ki Adalat: धर्मेंद्र ने खोले जिंदगी के कुछ दिलचस्प राज, बताई फिल्मी दुनिया से लेकर निजी जिंदगी की कहानी

Also Read: धर्मेंद्र ने ‘आप की अदालत’ में रजत शर्मा से कहा, ‘मुझे शराब पीती हुई औरतें अच्छी नहीं लगतीं’

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Bollywood News in Hindi के लिए क्लिक करें सिनेमा सेक्‍शन
Write a comment