1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. सिनेमा
  4. बॉलीवुड
  5. आप की अदालत में अनुपम खेर ने बताया, असल में हिंदुस्तान की क्या है पहचान?

आप की अदालत में अनुपम खेर ने बताया, असल में हिंदुस्तान की क्या है पहचान?

आप की अदालत में अनुपम खेर ने राजनीति और धर्म के साथ-साथ बॉलीवुड गलियारों के खोले कई राज़। 

India TV Entertainment Desk India TV Entertainment Desk
Updated on: July 06, 2019 23:34 IST
Anupam kher- India TV
Anupam kher

Aap Ki Adalat With Anupam Kher: पांच सौ से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके जबरदस्त एक्टर अनुपम खेर अपनी ही एक अलग पहचान बना चुके हैं। वह हर एक फिल्म में इतनी दमदार एक्टिंग करते है कि हर कोई उनका कायल हो जाता है। लेकिन अब आलम ये हो गया है कि उन्हें हिंदी फिल्मों में काम नहीं मिल रहा है। शुक्रवार को रिलीज़ छोटे बजट की फिल्म 'वन डे जस्टिस डिलीवर्ड' को दर्शकों का खास रिस्पॉन्स नहीं मिला है। इस फिल्म में अनुपम खेर ने जज की भूमिका निभाई है। फिल्म में ईशा गुप्ता भी काम कर रही हैं। जिसका सबसे बड़ा कारण राजनीतिक स्टैंड माना जा रहा हैं।

अनुपम खेर पीएम मोदी के बहुत ही बड़े सपोर्टर माने जाते हैं। जिसके कारण विरोधी हमेशा उनके ऊपर अंगुली उठाते रहते है। जब आप की अदालत में इंडिया टीवी के  एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा ने अनुपम खेर से पूछा कि जितने आपके विरोधी है जब आपके बातें सुनते है तो कहते है कि आप पीएम मोदी का गुणगान करते हैं। इस बारें में अनुपम ने विरोधियों का करारा जवाब दिया।

अनुपम खेर ने कहा कि अच्छी बात है कि मुझे पीएम मोदी का चमचा माना जाता है। ये किसी की बाल्टी बनने से अच्छा है।

वहीं अनुपम खेर से धर्म को लेकर कहा कि मैं हिंदू और इस्लाम धर्म के साथ हर धर्म को मानता हूं। जो असल में एक भारत माना जाता है। जहां पर किसी धर्म में कोई भेदभाव नहीं होता है।

अनुपम खेर ने आप की अदालत में सिर्फ अपनी बॉलीवुड में जर्नी के बारे में ही नहीं बल्कि देश की सरकार के बारे में उनकी नैतिकता और राय के बारे में भी बात की। उन्होंने जीवन के किसी भी क्षेत्र में आत्मविश्वास और एक सफल व्यक्ति होने की प्रमुख गतिशीलता पर प्रकाश डाला।

देखिए पूरा एपिसोड:

India TV Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Bollywood News in Hindi के लिए क्लिक करें सिनेमा सेक्‍शन
Write a comment
bigg-boss-13
plastic-ban