1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. इलेक्‍शन
  4. मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018
  5. कर्ज माफी के कांग्रेस के वादे के बावजूद कर्नाटक में किसानों को भेजा जा रहा है वारंट: PM मोदी

कर्ज माफी के कांग्रेस के वादे के बावजूद कर्नाटक में किसानों को भेजा जा रहा है वारंट: PM मोदी

मालूम हो कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मध्यप्रदेश में लगातार अपनी चुनावी सभाओं में प्रदेश में पार्टी की सरकार बनने पर दस दिन के अंदर किसानों का कर्ज माफ करने का वादा कर रहे हैं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: November 20, 2018 15:26 IST
Prime Minister Narendra Modi- India TV
Prime Minister Narendra Modi

झाबुआ (मध्यप्रदेश): सत्ता मिलने पर 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ करने के कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के वादे पर पलटवार करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि कर्नाटक चुनाव में कर्ज माफी का वादा किया गया था लेकिन अब किसानों को कर्ज चुकाने के लिए नोटिस या जेल भेजने के लिये वारंट निकाले जा रहे हैं।

मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के प्रचार के सिलसिले में आदिवासी बहुल झाबुआ में आमसभा को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस वालों ने वादा किया था कि वो किसानों का कर्ज माफ करेंगे। कर्नाटक में वोट तो ले लिए, सरकार भी बना ली। मोदी ने कहा, ‘‘अब ब्याज माफ करने की, कर्ज माफ करने की बात तो छोड़ो। किसानों को जेल भेजने का वारंट निकाल रहे हैं, वारंट कि आपने पैसा जमा नहीं कराया तो जेल जाने की तैयारी करो। किसान अपना घर छोड़-छोड़ कर भागे घूम रहे हैं और आज कर्नाटक में किसान आंदोलन चल रहा है।’’

उन्होंने कहा कि किसानों की मांग पर वहां के मुख्यमंत्री कहते हैं कि आपको यहां किसने बुलाया। ये तो गुंडे लोग हैं। यह कांग्रेस का चरित्र देखिए। अभी चार माह पहले वोट बटोर लिए थे। आज उन्हीं किसानों को गुंडे कहकर जुल्म करने की दिशा में, जेलों में बंद करने की दिशा में काम कर रहे हैं।

मालूम हो कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मध्यप्रदेश में लगातार अपनी चुनावी सभाओं में प्रदेश में पार्टी की सरकार बनने पर दस दिन के अंदर किसानों का कर्ज माफ करने का वादा कर रहे हैं। मोदी ने कहा कि ऐसा ही एक ड्रामा कांग्रेस ने 2008 में किया था। 2009 के चुनावों में गाजे बाजे के साथ ढोल पीटा गया था, किसानों का कर्ज माफ करेगें। 6,000 अरब रुपये का कर्ज था देश के किसानों का। उन्होंने कर्ज माफी के नाम पर चुनाव में वोट तो ले लिए लेकिन 6,000 अरब रुपये सामने 60 हजार करोड़ का कर्ज भी माफ नहीं किया। यह बात बाहर नहीं आई क्योंकि 2009 में वह चुनाव जीत गए।

उन्होंने कहा कि उस समय कोयला, टू जी, हेलीकॉप्टर, पनडुब्बी, राष्ट्रमंडल (सीडब्लयूजी) घोटाले हवा में थे इसलिए किसानों के साथ हुआ धोखा चर्चा में नहीं आया। मोदी ने आरोप लगाया कि कैग की रिपोर्ट में 40 लाख ऐसे नकली लोग निकले जिनका कर्ज माफी का कारण ही नहीं बनता था, लेकिन उनके यार दोस्तों ने खाते में रुपये डाल कर लूट मचाई। कैग ने इसे पकड़ लिया। उन्होंने कहा कि इतना ही नहीं, जब सभी बातें पकड़ में आयीं तो उनका एक नया खेल सामने आया कि करीब सवा करोड़ लोगों को सर्टिफिकेट ही नहीं दिया कि आपका कर्ज माफ हो गया। इसका परिणाम यह हुआ कि इन किसानों को जिंदगी भर के लिए कर्ज लेने से मनाही हो गई और उनकी जिंदगी तबाह हो गई।

कर्ज माफी को लेकर किसानों से झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए मोदी ने कहा, ‘‘कांग्रेस के ये झूठे वादे और तरीके हैं। ये देशद्रोह, किसान द्रोह है। देश के भविष्य द्रोह प्रकार का काम किया है। ये कभी भी माफ करने जैसा काम नहीं है।’’

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Madhya Pradesh Assembly Election 2018 News in Hindi के लिए क्लिक करें इलेक्‍शन सेक्‍शन
Write a comment