1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. इलेक्‍शन
  4. लोकसभा चुनाव 2019
  5. Lok Sabha Elections 2019: रमजान के महीने में चुनाव की तारीखों को लेकर छिड़ा विवाद क्या बेवजह है?

Lok Sabha Elections 2019: रमजान के महीने में चुनाव की तारीखों को लेकर छिड़ा विवाद क्या बेवजह है?

तृणमूल कांग्रेस के नेता और कोलकाता शहर के मेयर फिरहाद हाकिम ने लोकसभा चुनावों के लंबे कार्यक्रम पर सवाल उठाया है और कहा है कि पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में रोजा रखने वाले मुस्लिमों को इससे कठिनाई का सामना करना पड़ेगा।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: March 11, 2019 13:50 IST
This whole controversy is totally uncalled for & unnecessary says Asaduddin Owaisi- India TV
This whole controversy is totally uncalled for & unnecessary says Asaduddin Owaisi on voting during Ramzan

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने 2019 के लोकसभा चुनावों की घोषणा कर दी है और 7 चरणों में मतदान का ऐलान किया है, लेकिन मई महीने में मतदान के 3 चरणों के लिए कई राजनीतिक दल विवाद पैदा कर रहे हैं क्योंकि उस दौरान रमजान का महीना रहता है और मुस्लिम समुदाय के लोग उस दौरान उपवास रखते हैं।

तृणमूल कांग्रेस के नेता और कोलकाता शहर के मेयर फिरहाद हाकिम ने लोकसभा चुनावों के लंबे कार्यक्रम पर सवाल उठाया है और कहा है कि पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में रोजा रखने वाले मुस्लिमों को इससे कठिनाई का सामना करना पड़ेगा। इन तीनों राज्यों में चुनाव आयोग ने सभी 7 चरणों में मतदान कराने का फैसला किया है।

हालांकि तृणमूल कांग्रेस के नेता को हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने जवाब दिया है, ओवैसी ने इस पूरे विवाद को अनावश्यक बताया है और राजनीतिक दलों को अपने लाभ के लिए मुस्लिमों और रमजान के विवाद को हवा नहीं देने की अपील की है। ओवैसी ने कहा है कि रमजान के दौरान मुस्लिम समुदाय के लोग उपवास रखते हैं और एक सामान्य जीवन जीते हैं, ओवैसी ने कहा कि उनके विश्लेषण के मुताबिक रमजान के दौरान मुस्लिम समुदाय के लोग ज्यादा संख्या में वोट करेंगे क्योंकि इस दौरान  वे अन्य काम से फ्री रहते हैं।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Lok Sabha Chunav 2019 News in Hindi के लिए क्लिक करें इलेक्‍शन सेक्‍शन
Write a comment